यूपी में बच्चों का कोविड टीकाकरण शुरू, पहले दिन एक करोड़ 40 लाख का लक्ष्य

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के गति पकडऩेे के साथ ही ओमिक्रान वैरिएंट के प्रभावी होने के बीच में उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार से बच्चों (15 से 18 वर्ष) का टीकाकरण प्रारंभ कर दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ की पहल पर प्रदेश के किशोरों को टीके के रूप में आज से कोरोना का सुरक्षा कवच मिल रहा है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ के सिविल अस्पताल में 15 से 18 साल के बच्चों के कोविड टीकाकरण का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मौके पर कहा कि कोरोना की तीसरी लहर और ओमीक्रॉन वैरिएंट को देखते हुए सरकार सतर्क है और सभी ऐहतियात बरते जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरी लहर में जिस डेल्टा वैरिएंट ने कहर मचाया था उसकी तुलना में ओमिक्रान कमजोर है। इसकी संक्रमण की दर काफी तेज बतायी जा रही है।प्रदेश सरकार ने बच्चों के टीकाकरण अभियान की शुरुआत के ही दिन एक करोड़ 40 लाख बच्चों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा है। प्रदेश के सभी जिलों में आज से 15 वर्ष से 18 वर्ष तक की उम्र के किशोरों को वैक्सीन लगाई जाएगी। राज्य में वैक्सीन लगाने के लिए करीब 16 हजार केन्द्र बनाए गए हैं।
प्रदेश के किशोरों में टीका लगवाने के लिए उत्साह देखने को मिल रहा है। 48 घंटे में ही 6.79 लाख किशोरों ने टीका लगवाने के लिए पंजीकरण करवा लिया है। बीते एक जनवरी से पंजीकरण की शुरुआत की गई। कोरोना के बढ़ रहे मरीजों को देखते हुए बचाव के लिए लोग जागरूक हो गए हैं। समय पर टीका लगवाकर वह कोरोना के खिलाफ अपना सुरक्षा चक्र मजबूत करना चाहते हैं। किशोरों को कोवैक्सीन ही लगाई जाएगी।
सीएम योगी ने ट्वीट कर किशोरों से आह्वान किया कि वे सभी टीका जीत का जरूर लगवाएं। उन्होंने लिखा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में 15 वर्ष से 18 वर्ष के बच्चों को कोविड वैक्सीन का सुरक्षा कवच प्रदान करने हेतु सोमवार से निश्शुल्क कोविड टीकाकरण आरंभ होने जा रहा है। देश-प्रदेश को कोरोना मुक्त बनाने में टीका जीत का अत्यंत महत्वपूर्ण है। टीका अवश्य लगवाएं।
राज्य टीकाकरण अधिकारी डा. अजय घई ने बताया कि अभी करीब दो करोड़ से अधिक वैक्सीन उपलब्ध है। वहीं इसमें 60 लाख कोवैक्सीन का टीका उपलब्ध है। केन्द्रों पर किशोरों को टीका लगवाने में कोई कठिनाई न हो इसके लिए पूरी व्यवस्था कर ली गई है। इनके लिए अगल से काउंटर बनाया गया है। कोरोना के टीकाकरण के लिए मौके पर भी रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई है।