जेएनयू हिंसा: सच जानने को कांग्रेस ने बनाई चार की फैक्ट कमेटी

नईदिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा के विरोध में दिल्ली समेत देशभर में प्रदर्शन हो रहा है। इसी बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक फैक्ट फाइंडिंग कमिटी गठित की है। इसमें चार लोग शामिल हैं। समिति की आज कांग्रेस कार्यालय में बैठक होने वाली है। उन्हें एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देनी है वहीं जेएनयू हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। दिल्ली पुलिस ने विश्वविद्यालय की छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत 19 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। चार जनवरी को सर्वर रूम में तोडफ़ोड़ के आरोप में इन पर केस हुआ है। इसे लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने 5 जनवरी को शिकायत दर्ज करवाई थी। गेटवे ऑफ इंडिया पर विरोध प्रदर्शन में दिखे फ्री कश्मीर के पोस्टर पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि मैंने अखबार में पढ़ा कि फ्री कश्मीर के बैनर दिखाने वालों ने स्पष्ट किया कि वे इंटरनेट सेवाओं, मोबाइल सेवाओं और अन्य मुद्दों पर प्रतिबंध से मुक्ति चाहते हैं। अगर कोई भारत से कश्मीर की आजादी की बात करता है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। गेटवे ऑफ इंडिया पर विरोध प्रदर्शन में दिखे कश्मीर के पोस्टर पर भाजपा नेता किरीट सोमैया ने कहा कि उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने उन्हें जांच का आश्वासन दिया है। जेएनयू हिंसा मुद्दे पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक फैक्ट फाइंडिंग कमिटी गठित की है। इसमें चार लोग शामिल हैं। समिति की आज कांग्रेस कार्यालय में बैठक होने वाली है। उन्हें एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देनी है।
समाचार एजेंसी ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि पुलिस वीडियो फुटेज और फेस रिकॉग्निशन सिस्टम की मदद से जेएनयू हिंसा में शामिल लोगों पहचान कर रही है। जेएनयू में रविवार शाम को हुई जबरदस्त हिंसा के बाद आज तीसरे दिन भी परिसर में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। इसके मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। जेएनयू हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। दिल्ली पुलिस ने विश्वविद्यालय की छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत 19 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। चार जनवरी को सर्वर रूम में तोडफ़ोड़ के आरोप में इनपर केस हुआ है। इसे लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने 5 जनवरी को शिकायत दर्ज करवाई थी। प्रदर्शनकारी छात्रों में से एक कपिल अग्रवाल ने कहा, हमें पुलिस द्वारा जबरन यहां आज़ाद मैदान में शिफ्ट किया गया। लेकिन अब हमने गेटवे ऑफ इंडिया विरोध प्रदर्शन को बंद कर दिया है, यह एक सफल विरोध था। हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close