पश्चिमी यूपी में रिमझिम बारिश से बदला मौसम का मिजाज, बढ़ी ठंड

नई दिल्ली। पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर के क्षेत्रों में बुधवार की सुबह से हो रही रिमझिम बारिश ने मौसम का मिजाज बदल दिया। इससे पारा सामान्य से काफी नीचे आ गया। रिमझिम बारिश से बढ़ी ठंडक से लोगों ने घरों में रहना ही उचित समझा। आज आसमान में काले बादल छा गए। दिन निकलने के साथ ही रिमझिम बरसात शुरू हो गई। सूरज के नहीं दिखने और रिमझिम बरसात से मौसम में ठंडक हो गई। ठंडी हवाओं ने भी सर्दी का लोगों को अहसास कराया जिससे खुले आसमान के नीचे जीवनयापन करने वाले लोगों का हाल मुहाल है। वहीं सडक़ों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। मंदिरों में भी अन्य दिनों की भांति भक्तों की भीड़ काफी कम दिखाई दे रही है। बागपत में ठंड से बचने के लिए लोग अलाव जलाकर शरीर ताप रहे है वहीं बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मार्गों पर कीचड़ की समस्या बन गई है जिससे लोगों को उन पर आवागमन करते समय परेशानी उठानी पड़ रही है वहीं मथुरा में बारिश से बढ़ी सर्दी के चलते लोगों के हाथ पर सुन्न हो रहे हैं। सर्दी के चलते लोग घरों में कैद हो गए है। लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। डॉक्टरों ने लोगों को बारिश से बचने की सलाह दी है।
मुरादाबाद की हवा हुई बेहद जहरीली, बारिश से मिली राहत
मौसम में आए बदलाव की वजह से मुरादाबाद में वायु प्रदूषण का स्तर बहुत खतरनाक स्थिति में पहुंच गया। बुधवार को मुरादाबाद वायु प्रदूषण के मामले में प्रदूषण के मामले में स्वास्थ्य की दृष्टि से सबसे ज्यादा खतरनाक हालात में पहुंच गया। वहीं दोपहर बाद बारिश से वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ है।
दिल्ली में भी बढ़ी ठंड
दिल्ली में बुधवार को सुबह हल्की बारिश हुई और बादल छाये रहने की वजह से न्यूनतम तापमान 10.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस अधिक है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों के अनुसार, लगातार एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव की वजह से 9 जनवरी तक शहर में यही स्थिति बनी रहेगी। शहर में नौ जनवरी तक आसमान में बादल छाए रहने और हल्की बारिश की संभावना है और न्यूनतम तापमान में शनिवार तक वृद्धि हो सकती है और यह 13-14 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा सकता है।