देश के सबसे बड़े राज्य के युवा अब बनेंगे स्मार्ट: योगी

 

गोरखपुर। सीएम योगी ने कहा है कि देश में आबादी के लिहाज से सबसे बड़े राज्य के युवा अब स्मार्ट बनेंगे। प्रदेश में एक करोड़ विद्यार्थियों को मुफ्त दिए जा रहे टैबलेट एवं स्मार्ट फोन में डिजिटल एक्सेस और विश्व स्तरीय शानदार कंटेंट की सुविधा भी मुफ्त उपलब्ध कराई जा रही है। इन टैबलेट व स्मार्ट फोन में केंद्र व प्रदेश सरकार की रोजगारपरक योजनाओं की संपूर्ण जानकारी एक क्लिक पर उपलब्ध होगी। सरकार युवाओं की पढ़ाई, प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए ऐसे इंतजाम सुनिश्चित कर रही है जिससे उन्हें बाहर जाने की नौबत न आए।
आज भरोहिया ब्लॉक में राष्ट्र संत ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण करने करने के बाद विद्यार्थियों को मुफ्त टैबलेट-स्मार्ट फोन वितरण एवं 68 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने 50.48 करोड़ रुपये की लागत से पूर्ण 15 परियोजनाओं का लोकार्पण और 17.31 करोड़ रुपये की लागत वाली पांच परियोजनाओं का शिलान्यास किया। सीएम योगी ने प्रदेश के पहले स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट का शिलान्यास एवं सूचना संकुल का लोकार्पण भी शामिल है। समारोह में 1000 छात्रों को टैबलेट-स्मार्ट फोन का वितरण किया गया जिसमें 22 विद्यार्थियों को मंच पर मुख्यमंत्री के हाथों टैबलेट-स्मार्ट फोन प्राप्त हुआ।
गुरु गोरखनाथ विद्यापीठ भरोहिया के मंच से सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने तय किया है कि स्नातक-परास्नातक, आईटीआई, पॉलिटेक्निक, स्किल डेवलपमेंट का कोर्स करने वालों या प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को मुफ्त में स्मार्ट फोन व टैबलेट दिए जाएंगे। एक करोड़ युवाओं के लिए इस कार्य का शुभारंभ 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती से किया गया। लखनऊ के इस कार्यक्रम में 60000 युवाओं को टैबलेट व स्मार्ट फोन वितरित किए गए। इसके अलावा वाराणसी, गोरखपुर, अलीगढ़, सहारनपुर आदि जिलों में टैबलेट-स्मार्ट फोन वितरण में स्वयं मौजूद रहा। उन्होंने कहा कि सरकार कॉलेजवार टैबलेट एवं स्मार्टफोन उपलब्ध कराएगी। कार्यक्रम में स्वागत संबोधन कैंपियरगंज के विधायक फतेह बहादुर सिंह ने किया। मंच पर विधायक संत प्रसाद, शीतल पांडेय, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह, जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, मत्स्य विकास निगम के अध्यक्ष रमाकांत निषाद, ब्लॉक प्रमुख सुनीता सिंह, बृजेश यादव, नगर पंचायत पीपीगंज के चेयरमैन गंगा प्रसाद जायसवाल, संजय सिंह मौजूद रहे।

पढ़ाई के दौरान ही करियर का रास्ता चुन सकेंगे युवा
सीएम योगी ने कहा कि टैबलेट व स्मार्टफोन के जरिए युवा पढ़ाई के दौरान ही अपने करियर का रास्ता चुन सकेंगे। इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टार्टअप योजना, स्टैंडअप योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, ओडीओपी, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को भी टेबलेट व स्मार्ट फोन से जोड़ा जा रहा। टैबलेट व स्मार्ट फोन में सरकार दो अतिरिक्त सुविधाओं को भी मुफ्त दे रही है। पहला डिजिटल एक्सेस, बहुत से ऐसे विद्यार्थी होंगे जिनके माता पिता गरीबी के चलते इसके डिजिटल एक्सेस का व्ययभार वहन नहीं कर सकते, ऐसे में उन्हें अब कोई परेशानी नहीं होगी। दूसरा दुनिया की बेहतरीन कम्पनियों को जोड़ कर इस पर बेहतरीन कंटेंट एवं पाठ्यक्रम उपलब्ध करा रहे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की तरफ से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए 10 हजार युवाओं को मुफ्त टैबलेट-स्मार्ट फोन देकर उन्हें अभ्युदय योजना के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। कोरोनाकाल के दौरान कोटा (राजस्थान) में फंसे प्रदेश के 15 हजार युवाओं को वहां के कांग्रेस सरकार के असहयोग के बावजूद 500 बसों को भेजकर सुरक्षित वापस उनके घर पहुंचाया। प्रदेश में ही निशुल्क अभ्युदय कोचिंग की व्यवस्था हो जाने से अब यहां के युवाओं को बाहर जाने की नौबत नहीं आएगी। अभ्युदय कोचिंग ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड में उपलब्ध कराई जा रही है। बेहतर पाठ्यक्रम के साथ ही आईएस, आईपीएस, पीसीएस, पीपीएस अधिकारियों, डॉक्टर-प्रोफेसर को जोड़ा जा रहा है।
सीएम योगी ने युवाओं का आह्वान किया कि ज्ञान असीमित होता है, इसकी कोई सीमा नहीं होती। जितना अर्जित हो सके इसे उतना अर्जित करना चाहिए। युवा खुद को स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार करें क्योंकि शॉर्टकट से स्थाई सफलता नहीं मिलती। स्थाई सफलता के लिए परिश्रम से इमानदारी पूर्वक प्रयास करना होगा। सीएम ने कहा कि नए भारत का नया उत्तर प्रदेश इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। पौने पांच वर्ष के कार्यकाल में सरकार ने 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी है। 1.61 करोड़ को अन्य रोजगार एवं 60 लाख को स्वत: रोजगार से जोड़ा गया है। इतने बड़े पैमाने पर युवाओं का सेवायोजन पहले कभी नहीं हुआ था। यह इस बात का भी प्रमाण है कि सोच ईमानदार हो तो काम भी दमदार दिखता है।
छात्रों से बोले, लगाएं कोरोना की वैक्सीन
सीएम योगी ने विद्यार्थियों को कोविड वैक्सीन लगवाने को प्रेरित किया। कहा कि 15 वर्ष से अधिक उम्र के विद्यार्थी वैक्सीन जरूर लगवा लें। कोरोना के खिलाफ लड़ाई को जीतना है तो इसमें सभी को सहभागी बनना होगा। सीएम ने कहा कि थर्ड वेव खतरनाक नहीं है लेकिन सावधानी व सतर्कता आवश्यक है। जिन लोगों को पहले से गंभीर बीमारी हो तो वह बीमारी को छिपाकर आ बैल मुझे मार वाली स्थिति न बनाएं। बीमारी से भागें या घबराएं नहीं बल्कि सतर्कता बढ़ाएं।
भरोहिया से था ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ का गहरा लगाव
सीएम योगी ने भरोहिया में अपने गुरुदेव ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। प्रतिमा की स्थापना के लिए ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि संजय सिंह व उनकी टीम के प्रति आभार भी जताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि भरोहिया से उनके गुरुदेव ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ का गहरा एवं विशेष लगाव था। पितेश्वरनाथ मंदिर के पुनरुद्धार का कार्य उन्होंने स्वयं कई बार कराया तो गुरु गोरखनाथ विद्यापीठ की स्थापना उन्हीं के आशीर्वाद का प्रतिफल है। ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ मानीराम से पांच बार विधायक और गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से चार बार सांसद रहे। वह भरोहिया क्षेत्र के हर एक व्यक्ति को पहचानते थे। उनकी यहां स्थापित प्रतिमा जनसेवा के साथ सामाजिक समरसता के लिए जन-जन को प्रेरित करेगी।