मै हमेशा महिलाओं की चिंताओं का सपना देखती हूं: प्रियंका

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चुनाव में इन दिनों सपनों की खूब बात हो रही है। किसके सपने में कौन आता है यह एक बड़ा चुनावी मुद्दा बन चुका है। अखिलेश यादव ने पिछले दिनों कहा कि भगवान श्रीकृष्ण उनके सपनों में आकर कहते हैं कि सपा की सरकार बनने जा रही है तो सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भगवान उन्हें कहते होंगे कि सत्ता मिलते ही मथुरा में दंगे करवाए। इस बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी बताया है कि वह क्या सपना देखती हैं। लडक़ी हूं लड़ सकती हूं नारे के सहारे यूपी कांग्रेस में जान फूंकने की कोशिश कर रहीं प्रियंका ने कहा कि उनकी सपनों और चिंताओं में वे महिलाएं रहती हैं, जिन्हें कोई दिक्कत है। कांग्रेस नेता ने इस बात पर भी जवाब दिया कि वह खुद भी विधानसभा चुनाव लड़ेंगी या नहीं।
प्रियंका गांधी से सवाल किया गया था कि क्या आने वाले समय में वह खुद को यूपी के सीएम के रूप में देखती हैं? इसके जवाब में कांग्रेस नेता ने कहा, मैंने इस बारे में सोचा नहीं। मैं यह सपना नहीं देखती कि सीएम बनूंगी। मैं रात को सोने से पहले यह जरूर सोचती हूं कि आज मैं उस महिला से मिली थी उसके साथ ये हुआ था इसलिए कल उसको फोन करके पूछना चाहिए कि क्या हुआ, या मैं किसी के घर कल गई थी तो उनसे पूछना चाहिए कि उनकी परिस्थिति ठीक नहीं है तो मदद करनी चाहिए, यह मेरे सपने और चिंता रहती है। जब प्रियंका गांधी से पूछा गया कि इस बार योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव ने यूपी चुनाव लडऩे की बात कही है, क्या आप भी चुनाव लड़ेंगी? इस सवाल को पहले तो प्रियंका ने टालने की कोशिश की और कहा कि सारे सवालों के जवाब आज नहीं, कुछ आगे के लिए रहने दिया जाए। दोबारा यही सवाल किए जाने पर प्रियंका ने कहा, अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं किया है।