जांच जारी है, उचित कार्रवाई की जाएगी: नरवणे

नागालैंड किलिंग पर बोले सेना प्रमुख
नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि पिछले महीने नागालैंड में भयानक रूप से गलत हुए एक ऑपरेशन के दौरान 14 नागरिकों की हत्या में शामिल सैनिकों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। जनरल नरवने ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, जांच के नतीजे के आधार पर उचित और सुधारात्मक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सेना इस मामले की एक आंतरिक जांच कर रही है। जांच दल ने 29 दिसंबर को ओटिंग गांव का दौरा किया, जहां 14 में से 12 लोग मारे गए थे। इस दौरान घात लगाकर हमला करने वाली जगह का निरीक्षण भी किया गया। सेना पहले ही दो बार जनता से घात लगाकर किए गए हमले और उसके बाद हुए हिंसक टकराव की तस्वीरों और वीडियो सहित किसी भी जानकारी के लिए कह चुकी है। इस दौरान सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि एलएसी पर कोई यथास्थिति को बलपूर्वक बदलना चाहे तो ऐसा नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि पिछले 2 साल कोरोना और पूर्वी लद्दाख की स्थिति के चलते चुनौतीपूर्ण रहे सेना ने एक संगठन के रूप में देश की अपेक्षा के अनुरूप काम किया है। उन्होंने कहा, चीन के साथ सीमा के संबंध में बातचीत लंबे समय से चल रही है। 14 वां चक्र आज चल रहा है। यह अच्छा है कि मुद्दों का समाधान बातचीत से हल करने का प्रयास चल रहा है।
सेना प्रमुख ने भारत की उत्तरी सीमा पर स्थिति को लेकर कहा कि किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक सुरक्षा कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हम चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ दृढ़ एवं मजबूत तरीके से निपटना जारी रखेंगे।

उन्होंने कहा, ”आंशिक तौर पर सैनिक पीछे हटे हैं लेकिन खतरा किसी भी तरह से कम नहीं हुआ है। हमने चीन की पीएलए के साथ बातचीत करते हुए भी अभियान संबंधी अपनी तैयारियों का उच्चतम स्तर बरकरार रखा हुआ है