असम और मेघालय में जल्द सुलझेगा सीमा विवाद: बिस्वा

गुवाहाटी। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि उनकी सरकार सीमा विवाद के छह मुद्दों पर मेघालय के साथ आपसी समझ पर पहुंच गई है, जिसे सीमा विवाद के पहले चरण में लिया गया था। सरमा ने कहा कि दोनों सरकारें, असम और मेघालय आपसी समझ बूझ पर पहुंच गए हैं। लेकिन इसकी पुष्टि बड़े स्तर पर होनी चाहिए। हजारों लोग इस मामले में शामिल हैं, राज्य हित शामिल है। इसपर अकेले सरकार फैसला नहीं कर सकती है।
21 जनवरी से पहले अमित शाह से भी होगी चर्चा: मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच एक और बैठक होगी। वे 21 जनवरी से पहले केंद्रीय गृह मंत्री से भी मुलाकात करेंगे। सरमा ने विश्वास जताया कि हो सकता है असम और मेघालय दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के वापस आने के बाद अंतिम समझौते को सार्वजनिक किया जाएगा। बता दें कि असम और मेघालय के बीच लंबे समय से चले आ रहे अंतर-राज्यीय सीमा विवादों में, उनके संबंधित मुख्यमंत्रियों ने पिछले साल 23 दिसंबर को एक बैठक की और 12 में से छह बिंदुओं में मुद्दों को हल करने का निर्णय लिया था।

असम और मेघालय के बीच 12 बिंदुओं पर विवाद
मई 2021 में हिमंत बिस्वा सरमा के पद संभालने के बाद से सीमा मुद्दे पर उनके और मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा के बीच मुख्यमंत्री स्तर की चार दौर की वार्ता हो चुकी है। दोनों राज्य की सरकारों ने पिछले साल अगस्त माह में जटिल सीमा विवादों को चरणबद्ध तरीके से हल करने के लिए तीन समितियों का गठन भी किया था। असम और मेघालय के बीच विवादों के कुल 12 बिंदुओं में से पहले चरण में कम महत्वपूर्ण छह बिंदुओं को लिया गया है।