सांसद संघमित्रा बोलीं बेटी पर सवाल और बहू अपर्णा का स्वागत यह भी जातिभेद

बदायूं। सपाई हो चुके स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी और बदायूं की भाजपा सांसद डॉ संघमित्रा मौर्य स्वयं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गोद ली हुई बेटी बताती हैं। वह प्रधानमंत्री की लगातार तारीफ कर रही हैं लेकिन भाजपाइयों पर प्रहार। उन्होंने मुलायम सिंह परिवार की बहू अपर्णा यादव के भाजपा में आने के बाद भाजपाइयों पर तीखी टिप्पणी की।
उन्होंने अपने फेसबुक एकाउंट पर लिखा कि संस्कार अच्छा शब्द है मगर, किसके अंदर? हफ्ते भर पहले पिता ने पार्टी बदली तो बेटी पर वार हो रहा था। आज एक बहू एक से दूसरी पार्टी में आती है तो स्वागत… क्या इसे भी वर्ग से जोड़ा जाना चाहिए कि बेटी पिछड़े वर्ग (मौर्य) की है और बहू अगड़े (विष्ट) वर्ग से है। क्या बहन-बेटी की भी जाति और धर्म होता है?
आगे लिखा कि अगड़ा भाजपा में आता है तो राष्ट्रवादी… वो वोट भाजपा को करेगा या नहीं इस पर सवाल खड़ा करना तो दूर सोचा भी नहीं जाता। लेकिन पार्टी में रहने वाला राष्ट्रद्रोही। उसके वोट पर सवाल खड़े हो रहे, ऐसा क्यों? पिता के समाजवादी पार्टी में शामिल होने पर सवाल उठाने वालों को जवाब देते हुए उन्होंने कहा है कि सलाह न दें कि मैं कहां जाऊं, क्या करूं, मैं जहां भी हूं ठीक हूं। डॉ संघमित्रा मौर्य ने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में शामिल होने पर सवाल उठने पर पहले ही उन्होंने स्थिति साफ कर दी थी कि वह भाजपा में ही रहेंगी, यह भी कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें गोद लिया है। पोस्ट वायरल होने पर उनसे संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन, फोन रिसीव नहीं हुआ।