वेतन न मिलने पर कर्मियों ने किया काम ठप

बस्ती। स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत आउटसोर्सिंग कर्मियों ने शनिवार का कार्य बहिष्कार कर काम ठप कर दिया। वह कई माह से वेतन न मिलने से काफी आक्रोशित हैं। कार्य बहिष्कार से कोविड की जांच व फीडिंग सहित अन्य महत्वपूर्ण कार्य बाधित रहा। कर्मियों ने वेतन के लिए बार-बार अनुरोध किया, इसके बाद भी जिम्मेदार अधिकारियों की ओर से उनकी समस्या पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। प्रभारी सीएमओ डॉ. एफ हुसैन का कहना है कि वेतन भुगतान कराया जा रहा है।
स्वास्थ्य विभाग में आउट सोर्सिंग के माध्यम से एलटी, ऑपरेटर, चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को रखा गया है। इन कर्मियों की माने तो अप्रैल से इनके वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है। कोविड की तीसरी लहर में वह लोग जान-जोखिम में डालकर जांच से लेकर अन्य कार्य कर रहे हैं। अधिकारियों व प्रशासन को बार पत्र देकर वेतन भुगतान का अनुरोध किया गया लेकिन उनकी बातों का अनसुना कर दिया गया। वेतन भुगतान न करना पड़े, इसके लिए अब उनसे ज्वाईिनंग लेटर आदि की मांग कर प्रताडि़त किया जा रहा है, जिससे कर्मियों में काफी रोष है। कर्मियों ने शुक्रवार को प्रभारी सीएमओ को ज्ञापन देकर शनिवार तक वेतन भुगतान न होने की दशा में कार्य बहिष्कार की चेतावनी दे रखी थी। ज्ञापन पर कार्रवाई न होने से कर्मियों में काफी आक्रोश दिखा। वह काम पर तो आए लेकिन कंट्रोल रूम में बैठे रहे, काम नहीं किया। हालत यह रही कि रेलवे स्टेशन जैसी महत्वपूर्ण जगह सहित अन्य जगहों पर जांच का काम बाधित रहा। एलटी आशीष कन्नौजिया, विपिन शुक्ला, विष्णु मोहन, विवेक कुमार, अखिलेश कन्नौजिया, डीएन मिश्रा, घनश्याम यादव, डेटा ऑपरेटर अब्दुल अदीम, रागिनी त्रिपाठी, गरिमा पटेल, रमेश कुमार, चतुर्थ श्रेणी कर्मी महेंद्र सहित अन्य लोग कार्य बहिष्कार करने वालों में शामिल रहे।