बिहार बंद जैसे हालात, विपक्ष ने छात्रों के आंदोलन को लपका

पटना समेत कई शहरों में सडक़ों पर हंगामा, दरभंगा में रोकी ट्रेन

 

पटना। आरआरबी-एनटीपीसी रेलवे भर्ती परीक्षा को लेकर बवाल के बाद केंद्र सरकार ने छात्रों की सभी मांगें मान ली हैं। बावजूद आज बिहार बंद का आयोजन किया गया है। पटना, गया, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा सहित बिहार के सभी बड़े शहरों में सुबह से ही जगह-जगह रास्तों को जाम कर दिया गया है।

तमाम सडक़ों पर टायर जलाए जा रहे हैं तो कहीं नारेबाजी हो रही है। छात्रों के इस आंदोलन को अब विपक्ष ने लपक लिया है। सडक़ों से छात्र नदारद हैं। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी, कांग्रेस और लेफ्ट के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन करते दिखाई दे रहे हैं। पटना में सुबह ही कई सडक़ों पर आरजेडी के कार्यकर्ता उतर आए। टायरों को जलाते हुए सडक़ों को जाम कर दिया। कई जगह पप्पू यादव की पार्टी के कार्यकर्ता तो कुछ जगहों पर कांग्रेस और लेफ्ट के कार्यकर्ता ने जाम लगा दिया। मोदी-नीतीश के खिलाफ नारेबाजी की जा रही है।

गांधी सेतु पर प्रदर्शन की वजह से यहां कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया। सुबह 7 बजे से विपक्षी दलों के कार्यकर्ता सडक़ों पर उतर आए। महुआ विधायक डॉ. मुकेश रौशन ने रामाशीष चौक पर कार्यकर्ताओं के साथ प्रदर्शन किया। पटना में भिखना पहाड़ी इलाके में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने आगजनी की। दरभंगा में भी जगह-जगह आरजेडी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं। दरभंगा रेलवे स्टेशन पर आईएसए और आरजेडी के कार्यकर्ता पहुंचकर हंगामा करने लगे। कार्यकर्ता ट्रैक पर बैठ गए और दरभंगा संपर्कक्रांति का रास्ता रोक दिया। वैशाली में भी आरजेडी कार्यकर्ताओं ने रास्ता रोक दिया है। समस्तीपुर में भी बिहार बंद का असर देखा जा रहा है। औरंगाबाद, अररिया में भी बंदी से हालात हैं।