गोरखपुर-काठमांडू एसी बस सेवा को हरी झंडी

गोरखपुर। गोरखपुर से काठमांडू की यात्रा करने वाले पूर्वांचल के लोगों व पर्यटकों के लिए राहत भरी खबर है। रोडवेज की गोरखपुर-काठमांडू एसी बस सेवा की सौगात विधान सभा चुनाव बाद मिल सकती है। नेपाल स्थित ट्रांसपोर्ट के प्रतिनिधि मंडल से वार्ता के बाद उत्तर प्रदेश परिवहन निगम मुख्यालय लखनऊ ने बस सेवा शुरू करने की हरी झंडी दे दी है। क्षेत्रीय प्रबंधन ने भी बस को लेकर एकबार फिर अपनी तैयारी शुरू कर दी है।
नेपाल ट्रांसपोर्ट का प्रतिनिधियों ने की थी पहल
नेपाल ट्रांसपोर्ट का प्रतिनिधि दिसंबर में गोरखपुर में रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक (आरएम) से मुलाकात की थी। रोडवेज के अधिकारियों और प्रतिनिधि मंडल के साथ दोनों देश के बीच चलने वाली बस को बहाल करने के क्रम में बसों के परमिट, मरम्मत, किराया और रखरखाव पर विस्तार से चर्चा के बाद आम सहमति भी बन गई। प्रकरण लखनऊ पहुंचने के बाद बस सेवा शुरू करने को लेकर अनुमति जता दी। लेकिन इसी बीच कोविड ने तेजी से पैर फैलाना शुरू कर दिया। विधान सभा चुनाव की घोषणा भी हो गई। ऐसे में परिवहन निगम तैयारी के बाद भी बैकफुट पर आ गया। अब फिर से शुरुआत हो चुकी है। जानकारों के अनुसार गोरखपुर डिपो की एक बस प्रतिदिन गोरखपुर से काठमांडू के लिए रवाना होगी। यात्रियों की राहत के लिए बस की समय सारिणी सुविधाजनक बनाई जाएगी। ताकि, लोग एक दिन में पशुपतिनाथ और मनोकामना देवी का दर्शन कर वापस आ सकें।