नशे का इंजेक्शन देकर कराया जाता है गलत काम

रिमांड होम से निकली लडक़ी का आरोप
पटना (बिहार)। राजधानी पटना में गायघाट स्थित उत्तर रक्षा गृह से निकली एक लडक़ी ने अधीक्षक वंदना गुप्ता पर गंभीर आरोप लगाए हैं। लडक़ी का कहना है कि गायघाट स्थित उत्तर रक्षा गृह की अधीक्षक लड़कियों को नशे का इंजेक्?शन देकर अवैध कारोबार में जाने को मजबूर करती हैं। विरोध करने पर लड़कियों को भूखे रखा जाता है। बाहर निकलने के बाद लडक़ी किसी भी हाल में उत्तर रक्षा गृह वापस जाने को तैयार नहीं थी।
सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में लडक़ी ने उत्तर रक्षा गृह के अंदर अमानवीय व्यवहार करने का भी आरोप लगाया है। साथ ही आरोप लगाया कि लड़कियों को जॉब के बहाने बाहर भेजा जाता है। एक संस्था लडक़ी को लेकर महिला थाने पहुंची, वहां शिकायत की गई है। हालांकि अभी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। इस संबंध में अधीक्षक का पक्ष जानने के लिए उन्हें मोबाइल पर फोन किया गया और वाट्सएप मैसेज भेजा गया, पर उनसे बात नहीं हो सकी।
फर्जी परिजन बनाकर सौंपा जाता है
वायरल वीडियो में लडक़ी ने आरोप लगाया है कि उत्तर रक्षा गृह में एक बांग्लादेशी महिला को मरने पर मजबूर कर दिया गया। यही नहीं, जबरदस्ती होम में रखने को मजबूर किया जाता है। कई बार फर्जी परिजन बनाकर पैसा लेकर पीडि़ताओं को भेज दिया जाता है। ज्ञात हो कि उत्तर रक्षा गृह गायघाट में 255 पीडि़ताएं रह रही हैं।