ठंड से अभी नहीं मिलेगी राहत

नई दिल्ली। ठंड का सितम समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि अगले दो दिनों में उत्तर पश्चिम भारत में न्यूनतम तापमान में 2 से 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने की संभावना है। साथ ही पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश और बर्फबारी भी हो सकती है। पश्चिमी हिमालयी इलाके में शुक्रवार को हल्की से मध्यम बारिश या बर्फबारी जारी रहने की संभावना है। उत्तराखंड में शुक्रवार को छिटपुट ओलावृष्टि की आशंका है। दिल्ली सहित उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में गुरुवार को बादल छाए रहने और तेज ठंडी हवाओं के कारण दिन का तापमान काफी कम दर्ज किया गया।
वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहा, यह तेज गति से बढ़ रहा पश्चिमी विक्षोभ है। यह उत्तरी इलाकों को लगभग 24 से 36 घंटों तक प्रभावित करेगा और फिर पूर्व की ओर बढ़ जाएगा। इसके बाद यह पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में भारी बारिश और यहां तक कि ओलावृष्टि भी लाएगा। इसीलिए हमने इन क्षेत्रों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।
सीनियर वैज्ञानिक ने कहा कि पूरे उत्तर-पश्चिम भारत में शुक्रवार से दिन के तापमान में थोड़ा सुधार होगा, लेकिन न्यूनतम तापमान में गिरावट आएगी। उन्होंने कहा, इस पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर-पश्चिम भारत में 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली ठंडी ठंडी हवाएं चल रही हैं। ये पूर्वी और उत्तरी हवाओं का मिश्रण हैं, लेकिन शुक्रवार से हवा की दिशा पूरी तरह से उत्तर दिशा में बदल जाएगी।
पूर्वोत्तर भारत में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश
बिहार और झारखंड में शुक्रवार को गरज के साथ छींटे या बिजली के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। शुक्रवार और शनिवार को पूर्वोत्तर भारत में गरज के साथ छींटे या बिजली गिरने के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। आज असम और मेघालय के कुछ हिस्सों में ओलावृष्टि की भी आशंका है।