उपलब्धि: मेडिकल कॉलेज में जटिल केस की हो रही सर्जरी

 

बस्ती। मेडिकल कॉलेज की चिकित्सा इकाई ओपेक हॉस्पिटल कैली में इन दिनों कुशल और जानकार सर्जन के हाथों जटिल से जटिल केस की सर्जरी हो रही है। इसमें से कुछ ऐसी सर्जरी भी है, जिसके लिए पूर्व में महानगर जाना पड़ता था। ऑपरेशन के बाद मरीज सामान्य जीवन जी सकता है। मंडल सहित आसपास के जिलों के लिए मेडिकल कॉलेज की सुविधा किसी वरदान से कम नहीं है। ओपेक हॉस्पिटल में कोविड वार्ड बनाए जाने के बाद भी सामान्य ओपीडी, सर्जरी आदि का कार्य पूर्व की तरह चल रहा है। हाल ही में हड्डी के दो बड़े ऑपरेशन कैली हॉसिपटल में ऑर्थो सर्जन डॉ. रहमत अली की टीम ने किया। एक मरीज के पैर का लीगामेंट टूट चुका था। वह खड़ा तक नहीं हो पा रहा था। चिकित्सकों ने नई नस बनाकर मरीज को उसके पैरों पर खड़ा कर दिया। मरीज आर्थिक कारणों से महंगा इलाज नहीं करा सकता था। हड्डी विभाग में ही डॉ. सौरभ द्विवेदी के द्वारा महासू निवासी का ऑपरेशन किया गया। जन्मजात पैर की हड्डी टेढ़ी होने के कारण उसे चलने में समस्या थी। टीम ने एक बड़ा ऑपरेशन करके उसको सीधा किया। नेत्र रोग विभाग में इन दिनों मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया जा रहा है। नेत्र सर्जन डॉ. रोहित शाही का कहना है कि हर दिन चार से पॉच ऑपरेशन हो रहे हैं। सर्जन अभिनव चौधरी व उनकी टीम द्वारा पेट में किसी प्रकार की गांठ, पथरी, ट्यूमर, सिस्ट व अन्य समस्या से संबंधित ऑपरेशन नियमित रूप से किया जा रहा है। हेल्दी सीजन होने के कारण ओपीडी में मरीज कम आ रहे हैं, लेकिन चिकित्सकों का कहना है गर्मी बढऩे पर मरीजों की संख्या बढ़ेगी।
अस्पताल में प्रतिदिन बड़ी संख्या में सामान्य व सीजेरियन प्रसव हो रहे हैं। स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. जीडी यादव का कहना है कि इस समय प्रतिदिन दो से तीन ऑपरेशन हो रहे हैं। यह वह केस होते हैं जो महिला अस्पताल या किसी प्राइवेट अस्पताल से रेफर होकर आ रहे हैं। ऐसे मामलों में बड़ी सावधानी बरतते हुए सर्जरी की जा रही है। ऑपरेशन में जांच व दवा आदि अस्पताल से ही मुहैया कराई जा रही है। बाहर से जांच व दवा नहीं लिखी जा रही है।
मेडिकल कॉलेज की चिकित्सा इकाई कैली में गायनी सर्जरी, ऑर्थो सर्जरी, आई सर्जरी, जनरल सर्जरी आदि कुशल डॉक्टरों के द्वारा लगातार की जा रही है। कोविड-19 का कोई प्रभाव कैली की ओपीडी पर नहीं पड़ रहा है। कोरोना के मरीजों को अलग वार्ड में आईसोलेट करके रखा जा रहा है।