बेटे के नामांकन के दौरान राजभर से बदसलूकी, बोले 10 को निकल जाएगी भाजपा की गर्मी

वाराणसी। सोमवार को नामांकन दाखिले के दौरान जबरदस्त गहमागहमी देखने को मिली। एक तरफ अपने बेटे अरविंद राजभर का नामांकन कराने ओमप्रकाश राजभर पहुंचे तो दूसरी तरफ उनके प्रतिद्वंदी भाजपा के प्रत्याशी और कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने नामांकन किया। इस दौरान दोनों दलों के समर्थकों के बीच भारी नोकझोंक और हंगामा का दौर चला। ओमप्रकाश राजभर ने अपने साथ बदसलूकी का आरोप लगाया। ओमप्रकाश ने पुलिस पर भाजपाइयों कई आरोप लगाया।
राजभर ने कहा कि नामांकन के दौरान जिस तरह का प्रदर्शन आज भाजपा ने किया है, यह उसकी हताशा और निराशा है। यह लोग मुझसे इतने बौखलाए हुए हैं कि किसी भी समय कोई घटना कर सकते हैं। चुनाव आयोग पर बरसते हुए राजभर ने कहा कि उनके लोगों को सुरक्षा दिलाई जाए। उन्होंने जिलाधिकारी को संबोधित करते हुए कहा कि जो भी उनके दल के लोग नामांकन के लिए पहुंचे हैं, उन्हें सुरक्षा दिलाएं। राजभर ने कहा कि नामांकन स्थल पर सुरक्षा देना चुनाव आयोग का काम है। हम पुलिस से खुश नहीं हैं। इसकी शिकायत की जाएगी। राजभर ने कहा कि दस तारीख को काउंटिंग के साथ ही इनकी गर्मी शांत हो जाएगी।
सातवें चरण के चुनाव में नामांकन के पांचवें दिन सोमवार को काफी गहमागहमी है। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच नामांकन प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बेटे अरविंद राजभर को शिवपुर सीट पर नामांकन कराने पहुंचे पूर्व मंत्री व सुभासपा का अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को देख अधिवक्ताओं ने जय श्रीराम के नारे लगाने लगे।