लोहिया अस्पताल की ओपीडी में अब बिना कोरोना जांच दिखा सकेंगे मरीज

लखनऊं। राजधानी समेत पूरे यूपी में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामले लगातार घट रहे हैं। ऐसे में गोमतीनगर स्थित डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान ने मरीजों की सहूलियत के लिए नए एलान किया है। इसके तहत अब लोहिया संस्थान की ओपीडी में चिकित्सकीय परामर्श के लिए मरीजों को कोरोना जांच की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। ओपीडी में सीधे पंजीकरण कराकर डाक्टरी परामर्श मिल सकेगा। हालांकि भर्ती होने वाले मरीजों को कोरोना की नेगेटिव आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट दिखानी होगी। कोरोना का प्रकोप अब घट रहा है। लोहिया संस्थान की ओपीडी में रोजाना लगभग डेेढ़ से दो हजार मरीज आ रहे हैं। लोहिया संस्थान प्रशासन ने मरीजों की सहूलियत के लिए ओपीडी मरीजों के लिए कोरोना की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। इससे सैकड़ों मरीजों को राहत मिलेगी। अभी दूर दराज से आने वाले मरीजों को कोरोना जांच के चक्कर में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। एक दिन तो उन्हें कोरोना जांच कराने में लग जाता है। फिर रिपोर्ट आने पर वह अगले दिन ही ओपीडी में दिखा पा रहे थे। मगर अब संस्थान के सीएमएस डा. राजन भटनागर की ओर से आदेश जारी किया गया है कि ओपीडी में कोरोना रिपोर्ट जरूरी नहीं होगी। उन्होंने बताया कि ओपीडी और इमरजेंसी में फर्स्ट एड के मरीजों को अब कोरोना जांच नहीं करवानी होगी, लेकिन सर्जरी और किसी भी अन्य कारण से भर्ती से पहले मरीजों की कोरोना की नेगेटिव आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट जरूरी होगी।