मनीष हत्याकांड के सभी आरोपित पुलिसवाले को भेजा गया तिहाड़

गोरखपुर। कानपुर के प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता हत्याकांड में गोरखपुर जेल में बंद सभी हत्यारोपी 6 पुलिस वालों को सोमवार की सुबह तिहाड़ जेल के लिए रवाना किया गया है। 26 फरवरी को सभी आरोपितों की दिल्ली सीबीआई कोर्ट में पेशी होगी। इसके बाद केस का ट्रायल शुरू होगा। दिल्ली कोर्ट ने पुलिस वालों को दिल्ली के तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने की जिम्मेदारी गोरखपुर जेल प्रशासन को सौंपी है। जेलर प्रेम सागर शुक्ल ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर आरोपित पुलिस वालों को कड़ी सुरक्षा के बीच तिहाड़ जेल के लिए रवाना कर दिया गया है।
दरअसल इस मामले की जांच कर रही सीबी आई ने लखनऊ के सीबी आई कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी। जबकि सभी 6 पुलिस वाले गोरखपुर जेल में बंद हैं। हालांकि सीबी आई जांच से पहले ही मृतक की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी देकर केस का ट्रायल दिल्ली में कराने की गुहार लगाई थी। जिसपर कोर्ट ने सहमति जताते हुए आदेश भी जारी कर दिया था। इसके बाद दिल्ली की सी बी आई कोर्ट ने चार्जशीट लखनऊ से दिल्ली तलब करते हुए केस की सुनवाई शुरू कर दी और आरोपितों को भी दिल्ली शिफ्ट करने का आदेश दिया था।
कानपुर के बर्रा 3 निवासी मनीष गुप्ता 27 सितंबर की रात गोरखपुर में स्थिति होटल कृष्णा पैलेस में दोस्तों के साथ रुके थे। देर रात रामगढ़ताल थाने की पुलिस ने कमरे में दबिश दी थी। चेकिंग के दौरान पुलिस कर्मियों और मनीष के बीच कहासुनी हुई। आरोप है कि इसके बाद पुलिस कर्मियों ने मनीष की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। मामले की जांच शासन के आदेश पर पहले एसआईटी और बाद में सीबी आई ने की। एस आई टी ने हत्या के आरोप में इंस्पेक्टर जगत नारायण समेत समेत 6 पुलिसकर्मियों को जेल भेजा था। मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी।