बराकर नदी में डूबी नाव, 12 लोग लापता

जामताड़ा (झारखंड)। धनबाद जिले के निरसा से जामताड़ा जा रही नाव के बराकर नदी में डूब जाने से तीन लोगों में मरने की आशंका है। पांच लोगों को बचा लिया गया है। 12 लोग अब भी लापता हैं। एनडीआरएफ की टीम राहत एवं बचाव के कार्य में जुटी हुई है। नाव में 18-20 लोगों के सवार थे। घटना गुरुवार शाम साढ़े छह बजे घटित हुई। नाव निरसा के बारबेंदिया घाट से जामताड़ा के वीरग्राम की ओर जा रही थी। नाव में आदमी के साथ आठ बाइक भी लदी थी। ओवरलोड रहने तथा अचानक मौसम के खराब होने के कारण दुर्घटना घटी। घटना स्थल जामताड़ा जिले में हैं। मामले की जानकारी मिलने पर जामताड़ा घाट की ओर डीसी फैज अक अहमद मुमताज तथा एसएसपी दीपक कुमार सिनहा सहित अन्य आला अधिकारी कैंप कर रहे हैं। इधर निरसा के बरबेंदिया घाट पर निरसा विधायक अपर्णा सेनगुप्ता, झामुमो नेता अशोक मंडल, एसडीओपी पीतांबर सिंह खेरवार, निरसा थाना प्रभारी दिलीप कुमार यादव, एमपीएल ओपी प्रभारी समेत अन्य लोग कैंप कर रहे हैं। धनबाद के डीसी संदीप कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है। देवघर से एनडीआरएफ की टीम मौका-ए वारदात के लिए रवाना हो गई है। स्थानीय स्तर पर रेस्क्यू चलाया जा रहा है। जामताड़ा डीसी ने बताया कि एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। बचाव अभियान शुरू किया गया है लेकिन मौसम खराब होने और रात होने के कारण रेस्क्यू शुरू नहीं किया जा सका है। बारिश भी हो रही है। जामताड़ा डीसी ने चार लोगों को बचाने का दावा किया है।