झोलाछाप ने बच्चे को मृत बता करा दिया गर्भपात

गोरखपुर। झोला छाप व अवैध अस्पतालों पर शिकंजा कसने में स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह नाकाम है। इसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। झोला छाप के दलालों का यह लोग आए दिन शिकार हो रहे हैं। इससे जहां एक ओर मरीजों से नाजायज तरीके से धन उगाही हो रही है, वहीं कभी-कभी उनकी जान पर भी बन आ रही है। ऐसा ही एक मामला जिला महिला अस्पताल के सामने संचालित एक झोलाछाप का सामने आया है। झोला छाप ने एक गर्भवती का अल्ट्रासाउंड कराया तथा पेट में पल रहे बच्चे को मृत बताकर उसका गर्भपात करा दिया। हकीकत जानने के बाद पीडि़त ने सीएमओ के यहां शिकायती पत्र देकर पूरे मामले की जांच कराकर झोलाछाप के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शहर से सटे पांडेय पोखरा निवासी पीडि़त का कहना है कि वह अपने मरीज को लेकर जिला महिला अस्पताल गया था। अस्पताल के सामने क्लीनिक चलाने वाली झोलाछाप महिला के आदमी बहला-फुसलाकर मरीज को उक्त महिला के पास ले गए। वहां पर मरीज का अल्ट्रासाउंड कराया गया। इसके बाद झोलाछाप ने बताया कि बच्चा मर चुका है। उसने जबरन गर्भपात भी करा दिया। आगे कुछ सोचने का अवसर ही नहीं दिया गया। शिकायतकर्ता का कहना है कि उसके यह भी संज्ञान में आया है कि उक्त महिला भ्रूण लिंग की भी जांच करती है। अगर जांच कराई जाए तो सारा मामला सामने आ सकता है। जिला महिला अस्पताल के सामने झोलाछाप द्वारा अल्ट्रासाउंड किए जाने व मरीजों का इलाज किए जाने की शिकायत मिली है। जांच कराकर कार्रवाई कराई जा रही है।