चुनाव बाद बढ़ सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

रूस-यूक्रेन जंग के बीच कच्चा तेल 110 डॉलर प्रति बैरल के पार

नई दिल्ली। इंटरनेशनल बाजार में क्रूड आयल की कीमतें बढऩे के बाद भारत में भी पेट्रोल डीजल के दाम बढऩे की आशंका जताई जा रही है। जानकार बता रहे हैं कि यूपी, पंजाब समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव सम्पन्न होते ही पेट्रोल डीजल की कीमत में आग लग सकती है। रूस और यूक्रेन के बीच बीते कई दिनों से चल रही जंग का असर अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों पर भी पड़ रहा है। कच्चे तेल की कीमत $110 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंच गई है। इंटरनेशनल मार्केट में पेट्रोल डीजल के दाम बढऩे की आशंका जताई जा रही है। मालूम हो कि पेट्रोल डीजल के रेट में अभी कोई बदलाव नहीं हुआ है। यूक्रेन और रूस के बीच चल रही जंग के बाद इंटरनेशनल बाजार में कच्चे तेल के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले कई सालों से केंद्र सरकार के बजाय सरकारी तेल कंपनियां पेट्रोल डीजल के रेट तय कर रही हैं। तेल कंपनियों का दावा है कि यह कीमती अंतरराष्ट्रीय बाजार में रोजाना आने वाले कच्चे तेल की कीमतों में बदलाव के मद्देनजर तय होती है। कहा जा रहा है कि 10 मार्च को चुनावी नतीजे आने के बाद पेट्रोल डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी हो सकती है।