वाराणसी में जमकर बरसीं ममता

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गुरुवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने समाजवादी पार्टी और उसके गठबंधन सहयोगियों की साझा रैली में शिरकत की। उन्होंने अखिलेश यादव को फिर से मुख्यमंत्री बनाने की अपील की। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर ममता ने जमकर निशाना साधा। उन्होंने सीएम योगी को भोगी बताया। कहा कि वह सिर्फ भोग में लगे रहते हैं, कुछ काम नहीं किया है। ममता बनर्जी ने बनारस में काले झंडे दिखाए जाने को लेकर कहा कि यह बीजेपी की हार की निशानी है। उन्होंने यह भी कहा कि बड़ी संख्या में यूपी के लोग भी बंगाल आते हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि योगी सरकार ने एंटी रोमियो स्क्वॉयड बनाकर बहनों की बेइज्जती की है। कहा कि योगी सरकार ने कोविड में लोगों की मदद नहीं की। लोग पैदल चलते हुए रास्ते में मर गए। पश्चिम बंगाल की सीएम ने कहा कि यहां लोगों के शवों को गंगा में फेंक दिया गया, लेकिन उनकी सरकार ने शवों को निकालकर उनका दाह संस्कार करवाया। ममता ने कहा कि चुनाव आने पर बीजेपी मंदिर की बात करती है। हिंदू मुस्लिम करती है। ममता ने मंच से श्लोक सुनाते हुए कहा, मुझे जय श्रीराम के नारा में आपत्ति नहीं है, आप सीता माता का नाम नहीं लेते, जय सिया राम बोलो। हम तो मां दुर्गा का पूजा करते हैं, जिसकी पूजा राम जी ने की। ममता ने कहा कि वह मंदिर के साथ मस्जिद, गुरुद्वारा और गिरिजाघर भी जाती हैं। ममता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि आज नमक के नाम पर भी वोट मांगा जा रहा है। यह सब बता रहा है कि भाजपा हताश हो चुकी है।