मतदान के दौरान कोविड प्रोटोकाल का पालन कराने को मुस्तैद नजर आया स्वास्थ्य विभाग

जिले के सभी 2078 मतदान स्थलों पर बनाए गये थे हेल्प डेस्क

सीएमओ ने शहर समेत कई स्वास्थ्य केंद्रों का किया निरीक्षण

एसीएमओ भी अपने –अपने क्षेत्र में रहे क्रियाशील

गोरखपुर। जिले में वृहस्पतिवार को मतदान के दौरान स्वास्थ्य महकमा कोविड नियंत्रण के प्रति पूरी तरह मुस्तैद नजर आया । इसके लिए जिले के सभी 2078 मतदान स्थलों पर हेल्प डेस्क बनाये गये थे, जिनके संचालन की जवाबदेही अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) की थी । कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन कराने के प्रति एसीएमओ तो सक्रिय ही रहे, स्वयं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आशुतोष कुमार दूबे ने भी शहरी क्षेत्र समेत कई स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सुबह ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के ग्रुप से सभी अधिकारियों को हेल्प डेस्क का सक्रिय संचालन सुनिश्चित करने का दिशा-निर्देश दिया और खुद क्षेत्र में निकल गये। उन्होंने शहरी क्षेत्र के बूथ पर हेल्प डेस्क को देखा और जहां कहीं से हेल्प डेस्क सक्रिय न होने की शिकायत आई, हस्तक्षेप कर डेस्क को क्रियाशील बनाया। उन्होंने चरगांवा और भटहट के बूथों का भी निरीक्षण किया । जिलाधिकारी विजय किरण आनंद के दिशा-निर्देश पर सभी पोलिंग स्थल के लिए हेल्प डेस्क अनिवार्य किया गया था ।

सीएमओ ने कहा कि जिले में कोविड नियंत्रण में आ रहा है, लेकिन कोविड प्रोटोकॉल भूलना नहीं है। जिन लोगों ने टीका लगवा लिया है उन्हें भी मास्क, दो गज की दूरी, हाथों की स्वच्छता आदि नियमों का पालन करना है । टीका लगवाने के बाद भी इन नियमों के प्रति सतर्क न रहने से संक्रमण बढ़ सकता है, हांलाकि टीकाकरण के बाद जटिलताएं कम देखी गयी हैं। समुदाय को कोविड संक्रमण से मुक्त रखने के लिए नियमों का पालन अति आवश्यक है ।

पिपराईच ब्लॉक के ग्राम पंचायत रिठिया के बूथ नंबर 372 पर वोट करने पहुंची छाया (31) ने बताया कि बूथ पर आशा कार्यकर्ता मास्क के साथ मौजूद थीं। सभी लोगों का हाथ सेनेटाइज कराया जा रहा था और इंफ्रारेड थर्मामीटर से तापमान भी जांचा जा रहा था। वोटिंग के दौरान पहली बार स्वास्थ्य विभाग की बूथ पर इस प्रकार की सक्रियता नजर आई ।

महानगर के गोरखनाथ स्थित झूलेलाल मंदिर के बूथ नंबर 246 पर मतदान करने वाले अमित सिंह पटेल (37) ने बताया कि हेल्प डेस्क सक्रिय थी और आशा कार्यकर्ता मास्क के साथ बूथ पर मौजूद थीं। जो लोग मास्क लगा कर नहीं आए थे उन्हें मास्क के साथ मतदान करने के लिए प्रेरित किया जा रहा था । मतदाताओं के लिए हैंड सेनेटाइजर की भी व्यवस्था की गयी थी ।

24 नोडल अधिकारी भी रहे सक्रिय

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नंद कुमार, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एएन प्रसाद, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी केएन बरनवाल और उप जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी सुनीता पटेल समेत 24 नोडल अधिकारियों ने कोविड हेल्प डेस्क का संचालन सुनिश्चित करवाया । सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक एंबुलेंस और सभी सरकारी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया ।