नौ जिलों में 11 बजे तक 21.55 प्रतिशत मतदान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के गठन के लिए सातवें चरण का मतदान प्रारंभ हो गया है। नौ जिलों के 54 विधान सभा क्षेत्रों में मतदाता पोलिंग बूथ पर पहुंचे हैं, इससे पहले पोलिंग पार्टियों ने माक पोल से ईवीएम को परखा। नौ में सात जिलों की सभी सीट पर मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक होगा, लेकिन नक्सल प्रभावित सोनभद्र के राबर्ट्सगंज व दुद्धी और चंदौली के चकिया विधानसभा में सुबह सात से शाम चार बजे तक वोटिंग की प्रक्रिया होगी।
नौ जिलों में 11 बजे तक 21.55 प्रतिशत मतदान, मऊ के साथ चंदौली व मिर्जापुर ने पकड़ी तेजी: उत्तर प्रदेश विधनासभा चुनाव के सातवें तथा अंतिम चरण में पहले चार घंटे में कुल 21.55 प्रतिशत मतदान हो गया था। नौ जिलों के 54 विधानसभा क्षेत्र में मऊ के मतदाताओं का उत्साह काफी बढ़ा है। मऊ में 24.74 प्रतिशत मतदान हो गया था जबकि गाजीपुर में लोग काफी सुस्त हैं। 11 बजे तक आगमगढ़ में 20.12, भदोही में 22.24, चंदौली में 23.43, गाजीपुर में 19.35, जौनपुर में 21.84, मऊ में 24.74, मिर्जापुर में 23.41, सोनभद्र में 19.68 तथा वाराणसी में 21.21 प्रतिशत मतदान हो गया था।
वाराणसी में कई जगह पर ईवीएम में खराबी से मतदान प्रभावित: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में सातवें चरण के मतदान में पहले दो घंटे यानी सात से नौ बजे के बीच में पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कई जगह पर ईवीएम में खराबी आई। इनमें भी सर्वाधिक संख्या शिवपुर विधानसभा क्षेत्र में है। सुबह सात बजे से शुरू मतदान प्रक्रिया के दौरान दस बजे तक वाराणसी के आठ विधानसभा क्षेत्रों में 17 ईवीएम मशीन खराब होने की शिकायत कंट्रोल रूम को प्राप्त हुई। निर्वाचन कार्यालय ने इसके बाद दूसरी मशीन लगाकर सभी जगह मतदान प्रक्रिया शुरू कराई। इसमें भी सर्वाधिक चार ईवीएम शिवपुर विधानसभा क्षेत्र में खराब हुई है। मऊ के मधुबन के धर्मपुर देवारा बूथ संख्या 266 पर ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया है। यहां पर दस बजे तक एक भी वोट नहीं डाला गया है। यहां ग्रामीणों में सरयू नदी की कटान के मुद्दे को लेकर नाराजगी है।
पहले दो घंटे में 54 विधानसभा क्षेत्रों में 8.58 प्रतिशत मतदान: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में सातवें चरण के मतदान में पहले दो घंटे यानी सात से नौ बजे के बीच में नौ जिलों के 54 विधानसभा क्षेत्र में 8.58 प्रतिशत मतदान हो गया था। वाराणसी सहित नौ जिलों में मतदाता खासे उत्साहित हैं और सात बजे से ही लाइन लगाकर वोट डाल रहे हैं। नौ बजे तक मऊ में सर्वाधिक 9.99 प्रतिशत मतदान हो गया था जबकि सबसे कम 7.43 प्रतिशत मतदान भदोही में हुआ था। नौ बजे तक आजमगढ़ में 8.08, भदोही में 7.43, चंदौली में 7.69, गाजीपुर में 7.95, जौनपुर में 8.99, मऊ में 9.99, मिर्जापुर में 8.84, सोनभद्र में 8.35 तथा वाराणसी में 8.93 प्रतिशत मतदान हो गया था।
समाजवादी पार्टी ट्विटर पर बेहद सक्रिय, ईवीएम खराबी की शिकायतें जारी: विधानसभा चुनाव में मतदान के दौरान समाजवादी पार्टी इंटरनेट मीडिया पर बेहद सक्रिय है। मतदान में गड़बड़ी के साथ ही ईवीएम में खराबी की सूचना देने के लिए दस हेल्पलाइन नम्बर जारी करने के साथ ही सोमवार को भी मतदान प्रारंभ होते ही समाजवादी पार्टी में ईवीएम में खराबी की शिकयतों की झड़ी लगा दी। सपा ने जौनपुर के केराकत विधानसभा के बूथ नंबर-113, गाजीपुर के जमनिया विधानसभा के बूथ संख्या 46, मऊ के मधुवन विधानसभा के बूथ संख्या 154, गाजीपुर के गाजीपुर विधानसभा के बूथ संख्या 374, चंदौली के 354 मुगलसराय विधानसभा के बूथ संख्या 93, वाराणसी के अजगरा विधानसभा के बूथ संख्या 79, 84 व 93, चंदौली के चकिया विधानसभा के बूथ संख्या 300, गाजीपुर के जंगीपुर विधानसभा के बूथ संख्या 170, गाजीपुर के सैदपुर विधानसभा के बूथ संख्या 186, भदोही के औराई विधानसभा के बूथ संख्या 252, भदोही के भदोही विधानसभा बूथ संख्या 117,118,119 आजमगढ़ के दीदारगंज विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 44, भदोही के ज्ञानपुर विधानसभा के बूथ संख्या एक, मिर्जापुर के मझवा विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 419, आजमगढ़ के निजामाबाद विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर एक तथा जौनपुर के मछली शहर विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 47 पर ईवीएम खराब होने से मतदान बाधित होने की शिकायत की है। इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी ने मऊ के मोहम्मदाबाद गोहना विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 343 तथा 344 पर मतदाताओं पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर अपनी पार्टी के प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने के दबाव बनाने का भी आरोप लगाया है।