राजनीति में आने की इच्छा जता रहे राबर्ट वाड्रा

नई दिल्ली। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने एक बार फिर से राजनीति में आने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि मैं सोचता हूं कि यदि राजनीति में आता हूं तो फिर लोगों की बड़े पैमाने पर मदद कर पाऊंगा। रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, यदि मैं लोगों के लिए काम करता हूं, जो कि 10 साल से कर रहा हूं तो फिर उनका आशीर्वाद मुझे मिलता है। दृष्टिहीन बच्चों और बुजुर्गों का आशीर्वाद मेरी ताकत बनता है। मैं सोचता हूं कि उनके लिए काफी कम करता हूं, जितना वे मेरे लिए करते हैं। वाड्रा ने कहा कि समाज की सेवा के लिए मुझे राजनीति में आने की जरूरत नहीं है। इस बारे में परिवार से मंजूरी मिलने के बाद ही कोई फैसला लूंगा। भाजपा पर आरोप लगाते हुए वाड्रा ने कहा कि हर मसले में वे मेरा नाम घसीट लाते हैं और गलत आरोप लगाते हैं। इसलिए कई बार मैं सोचता हूं कि इनसे लडऩे का एकमात्र तरीका यह है कि संसद में जाऊं, जिसके लिए चुनाव लडऩा होगा।
उन्होंने कहा कि फिलहाल परिवार के साथ इस फैसले को लेकर बातचीत चल रही है। गांधी परिवार के दामाद ने कहा कि यदि परिवार इस पर राजी होता है और लोग समझते हैं कि मैं उनके लिए कुछ कर सकता हूं तो फिर मैं राजनीति में कूदने पर विचार करूंगा। वाड्रा ने ऐसे समय में राजनीति में कदम रखने की इच्छा जाहिर की है, जब कांग्रेस और गांधी परिवार चुनावी राजनीति में पिछड़ते दिख रहे हैं। हालांकि उनकी पत्नी प्रियंका गांधी ने काफी आक्रामक तरीके से यूपी में कांग्रेस का प्रचार किया है। बीते कई सालों से वह उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने की कोशिश में जुटी हैं। राहुल गांधी और पत्नी प्रियंका की तारीफ करते हुए रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि उन्होंने सभी 5 राज्यों में जमकर मेहनत की है। वाड्रा ने कहा कि लोग बदलाव चाहते हैं। बड़े पैमाने पर लोगों को नौकरियों की जरूरत, महिलाओं को सुरक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं की जरूरत है। महिलाएं बाहर निकलना चाहती हैं और वोट से बदलाव की इच्छा रखती हैं। महिलाएं प्रियंका के साथ आई हैं।