वाराणसी: शहर दक्षिणी से मंत्री नीलकंठ पीछे, सपा के महंत किशन आगे

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की मतगणना जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, रुझान और दिलचस्प होते जा रहे हैं। भाजपा ने शुरुआती रुझान में पार किया स्पष्ट बहुमत का आंकड़ा, भाजपा को 230 तथा सपा को 103 सीट पर बढ़त मिली है।
वाराणसी शहर दक्षिणी से सपा के प्रत्याशी किशन दीक्षित ने पहले चक्र में 5454 मतों से बढ़त बनाई है। उनको 7124 मत मिले हैं। भाजपा प्रत्याशी डा. नीलकंठ तिवारी दूसरे नंबर पर हैं। उनको 1670 मत मिले हैं। तीसरे नंबर पर कांग्रेस की मुदिता कपूर हैं जिनको 95 मत मिले हैं। शहर दक्षिण सीट पर हमेशा से भाजपा का दबदबा रहा है। हर बार के चुनाव में एक तरफा ही जीत मिलती रही है। नौ बार भाजपा से श्यामदेव राय चौधरी दादा विधायक बने रहे। दूसरे नंबर पर कांग्रेस के डा. दयाशंकर मिश्र दयालु रहते थे जो इस बार भाजपा में ही हैं। डा. नीलकंठ तिवारी चुनाव मैदान में उतरे तो उन्हेंं कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर पूर्व सांसद डा. राजेश मिश्र ने कड़ी टक्कर दी थी।
गोरखपुर शहर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 12,000 से अधिक वोटों से आगे चल रहे हैं। अब तक 3 चरणों की मतगणना का परिणाम आ चुका है। सपा की सुभावती शुक्ला को 4290 वोट मिले हैं जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को 16569 मत प्राप्त हुए हैं। समाज पार्टी के चंद्रशेखर को मात्र 903 वोट मिले हैं।
स्?वामी प्रसाद मौर्य पीछे : कुशीनगर जिले की फाजिलनगर सीट पर पूर्व मंत्री और भाजपा से पाला बदल कर सपा में गए स्?वामी प्रसाद मौर्य 2607 मतों से पीछे चल रहे हैं। भाजपा के सुरेंद्र कुशवाहा आगे चल रहे हैं।
कांंग्रेस प्रदेश अध्?यक्ष तीसरे स्?थान पर : कुशीनगर की तमकुहीराज सीट पर कांग्रेस प्रदेश अध्?यक्ष अजय कुमार लल्?लू तीसरे स्?थान पर चल रहे हैं। यहां भाजपा प्रत्?याशी करीब नौ हजार मतों से असीम कुमार राय आगे चल रहे हैं।
मंत्री सूर्य प्रताप शाही आगे : देवरिया की पथरदेवा सीट से कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही 2500 मतों से आगे चल रहे हैं। दूसरे स्?थान पर सपा प्रत्?याशी और पूर्व मंत्री ब्रह्माशंकर त्रिपाठी दूसरे स्?थान पर चल रहे हैं।
मंत्री जयप्रताप सिंह आगे : सिद्धार्थनगर जिले की बांंसी सीट से स्?वास्?थ्?य मंत्री जय प्रताप सिंह सपा के नवीन उर्फ मोनू दूबे से 5400 मतों से आगे चल रहे हैं।
मंत्री जय प्रकाश निषाद आगे: मत्?स्?य पालन राज्?य मंत्री जय प्रकाश निषाद देवरिया की रूद्रपुर विधानसभा सीट पर सपा के रामभुआल निषाद से 1175 मतों से आगे चल रहे हैं।
बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी के बेटा तथा मऊ सदर से सुहेलदेव भारती समाज पार्टी से प्रत्याशी अब्बास अंसारी पीछे चल रहा है। अब्बास का यह दूसरा विधानसभा चुनाव है। भाजपा प्रत्याशी अशोक सिंह यहां से आगे हैं। मुख्तार के बड़े भाई का बेटा सुहैब अंसारी उर्फ मन्नू गाजीपुर की सीट से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के रूप में बढ़त पर है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर तथा उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य कौशांबी की सिराथू सीट पर बढ़त बनाए हैं। योगी आदित्यनाथ करीब 12 हजार वोट से आगे हैं। बलिया के फेफना से मंत्री उपेन्द्र तिवारी सपा के प्रत्याशी संग्राम सिंह यादव से पिछड़ गए हैं।
समाजवादी पार्टी के गढ़ तथा इनकी परपंरागत सीट इटावा के जसवंतनगर से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी शिवपाल सिंह यादव पीछे चल रहे हैं। गोरखपुर शहर से भाजपा प्रत्याशी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बढ़त बना ली है।
मैनपुरी के करहल विधानसभा से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी बढ़त पर है। गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ सपा की प्रत्याशी सुभावती शुक्ला से आगे हैं। भीम आर्मी के प्रत्याशी चंद्र शेखर रावण को यहां पर अब तक सिर्फ 123 वोट मिले हैं।
करहल में अखिलेश यादव भाजपा के एसपी सिंह बघेल से आगे चल रहे हैं। कांग्रेस से प्रत्याशी नहीं खड़ा किया है बसपा तीसरे तथा नोटा चौथे स्थान पर है। अलीगढ़ की सात सीटों में से चार के रुझान आए हैं। चारों पर भाजपा काफी आगे चल रही है।
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले रुझान आ रहे हैं। 403 में से कुल 348 सीट के रुझान में भाजपा 230, समाजवादी पार्टी 103, बसपा नौ तथा कांग्रेस को चार सीट पर बढ़त मिली है।
अन्य दल तीन सीट पर आगे चल रहे हैं। जेवर विधानसभा सीट पर भाजपा के धीरेन्द्र सिंह, कन्नौज से भाजपा असीम अरुण, लखनऊ की सरोजनीनगर से भाजपा के राजेश्वर सिंह तथा सहारनपुर के नकुड से भाजपा प्रत्याशी मुकेश चौधरी आगे चल रहे है।
पुलिस की सेवा से स्वैच्छिक सेवानिवृति लेकर राजनीति के मैदान में उतरे भाजपा के प्रत्याशी असीम अरुण के साथ ही साथ राजेश्वर सिंह भी आगे चल रहे हैं। असीम अरुण कन्नौज के कन्नौज सदर तथा राजेश्वर सिंह लखनऊ के सरोजनीनगर से मैदान में हैं।
अयोध्या के बीकापुर रुदौली तथा मिल्कीपुर में भाजपा बढ़त पर है। गोसाईगंज में सपा आगे है। सहारनपुर के नकुड से भाजपा प्रत्याशी मुकेश चौधरी के साथ आगरा की फतेहपुर सीकरी व एत्मादपुर में भी भाजपा आगे है।
गौतमबुद्ध नगर की दादरी विधानसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी तेजपाल नागर पहले चक्र की गणना के बाद बढ़त पर हैं। सहारनपुर के नकुड से भाजपा प्रत्याशी मुकेश चौधरी के साथ आगरा की फतेहपुर सीकरी व एत्मादपुर में भी भाजपा आगे है।
गौतमबुद्ध नगर की दादरी विधानसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी तेजपाल नागर पहले चक्र की गणना के बाद बढ़त पर हैं। आगरा के एत्मादपुर से भाजपा प्रत्याशी डॉ धर्मपाल सिंह, बांदा के तिंदवारी से भाजपा के रामकेश निषाद तथा बबेरू से भाजपा के अजय पटेल आगे चल रहे हैं।
बांदा सदर से भाजपा के द्विवेदी आगे चल रहे हैं। फाजिलनगर से समाजवादी पार्टी के स्वामी प्रसाद मौर्य बैलट पेपर की गिनती में भाजपा के सुरेन्द्र सुरेंद्र कुशवाहा से आगे चल रहे हैं।आगरा के एत्मादपुर से भाजपा प्रत्याशी डॉ धर्मपाल सिंह, बांदा के तिंदवारी से भाजपा के रामकेश निषाद तथा बबेरू से भाजपा के अजय पटेल आगे चल रहे हैं।
फिलहाल पैस्टल बैलट की गिनती में भाजपा 155 और सपा 97 सीटों पर आगे नजर आ रही है। वहीं बहुजन समाज पार्टी को 06 और कांग्रेस केवल 04 सीटों पर आगे दिख रही है।
फाजिलनगर से सपा के प्रत्याशी स्वामी प्रसाद मौर्य, भाजपा प्रत्याशी सुरेंद्र कुशवाहा से आगे चल रहे हैं। वहीं चुनाव पूर्व विवादों का केंद्र रहे लखीमपुर की सभी सीटों पर भाजपा आगे चल रही है। प्रमुख प्रत्याशियों की बात करें तो गोरखपुर शहर से भाजपा प्रत्याशी सीएम योगी आदित्यनाथ ने बढ़त बना ली है।
करहल से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आगे चल रहे हैं। जहूराबाद से ओम प्रकाश राजभर फिलहाल पीछे छूटते नजर आ रहे हैं। रामपुर से सपा प्रत्याशी आजम खां आगे। बहराइच से भाजपा की अनुपमा जायसवाल पीछे। वाराणसी दक्षिण से भाजपा के नीलकंठ तिवारी पीछे।
अमेठी से सपा प्रत्याशी महाराजी देवी आगे। सरधना से भाजपा प्रत्याशी संगीत सोम आगे। मेरठ कैंट से भाजपा के अमित अग्रवाल आगे। तिलोई से भाजपा के मयंकेश्वर शरण सिंह आगे। नोएडा से बीजेपी के पंकज सिंह आगे। शामली के कैराना से नाहिद हसन आगे।
गाजियाबाद सदर सीट से मंत्री अतुल गर्ग आगे।साहिबाबाद से बीजेपी प्रत्याशी सुनील शर्मा आगे। शिकोहाबाद से बीजेपी के ओमप्रकाश वर्मा आगे। नोएडा से कांग्रेस की पंखुड़ी पाठक पीछे।
कौशांबी के सिराथू से बीजेपी प्रत्याशी केशव प्रसाद मौर्या सपा की पल्लवी पटेल से आगे। मंझनपुर से सपा प्रत्याशी इंद्रजीत सरोज बीजेपी के लाल बहादुर से आगे। चायल से बीजेपी गठबंधन उम्मीदवार नागेंद्र पटेल सपा की पूजा पाल से आगे।
रामपुर से आजम खान, रायबरेली से अदिति सिंह, सिराथू से केशव प्रसाद मौर्य ने बढ़त बनाई हुई है। सरोजनी नगर से भाजपा के राजेश्वर सिंह आगे चल रहे हैं। मेरठ पश्चिम से बीजेपी के कमल शर्मा आगे चल रहे हैं। लखीमपुर खीरी की सभी सीटों से बीजेपी आगे चल रही है।
किठौर से सपा के शाहिद मंजूर आगे। सिवालखास से सपा के गुलाम मोहम्मद आगे। मेरठ शहर से सपा के रफीक अंसारी आगे। गंगोह सीट से बसपा के नोमान मसूद आगे।गोविंद नगर से बीजेपी के सुरेंद्र मैथानी आगे। महाराजपुर से बीजेपी के सतीश महाना आगे।
बिठूर सीट के अभिजीत सिंह सांगा आगे। कल्याणपुर से सतीश कुमार निगम आगे, भाजपा की नीलिमा कटियार पीछे। शिवपुर से सुभासपा के अरविंद राजभर पीछे।
कन्नौज की छिबरामऊ विधानसभा से अरविंद यादव सपा अपनी प्रतिद्वंदी प्रत्याशी भाजपा अर्चना पांडे से आगे चल रहे हैं। हालांकि ये बेहद शुरूआती रुझान हैं, मतगणना आगे बढऩे पर इन रुझानों में बड़ा बदलाव भी दिख सकता है।
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में 4442 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे। इनमें 560 महिलाएं हैं। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सभी 75 जिलों में 403 विधान सभा सीटों की गिनती 84 केन्द्रों पर सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है। दोपहर तक पूरी तस्वीर साफ हो जाएगी।
मतगणना के लिए प्रदेश के सभी 75 जिलों सहित 84 कुल मतगणना केन्द्र बनाए गए हैं। इनमें सर्वाधिक पांच आगरा में हैं। इनके अलावा अमेठी, अम्बेडकरनगर, देवरिया, मेरठ व आजमगढ़ में दो-दो तथा शेष 69 जिलों में एक-एक मतगणना केन्द्र बनाये गये हैं।
विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 की मतगणना के लिए सभी 403 विधान सभा में एक-एक प्रेक्षक तैनात हैं।
प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनाव में 403 सीट में से भारतीय जनता पार्टी को 312, समाजवादी पार्टी को 47, बहुजन समाज पार्टी को 19, अपना दल (एस) को नौ, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी को चार, निर्दलीय को तीन तथा निषाद पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल को एक-एक सीट मिली थी।
प्रत्येक विधान सभा सीट की गिनती के लिए लगती हैं 14 टेबल : प्रत्येक विधान सभा सीट की गिनती के लिए 14 टेबल लगाई जाती हैं।
अपवाद स्वरूप कुछ विधान सभा सीटों पर जहां पोलिंग बूथ की संख्या अधिक होती है वहां रिटर्निंग अफसर चुनाव आयोग से अनुमति लेकर टेबल बढ़ा लेते हैं।
करीब तीन मिनट में होती है एक ईवीएम से गिनती : प्रत्येक बूथ पर करीब 1200 मतदाता होते हैं। मतदान यदि 60 प्रतिशत हुआ है तो 720 मत यदि 70 प्रतिशत हुआ है तो 840 मत पड़ते हैं। प्रत्येक ईवीएम से मतों की गिनती में करीब तीन मिनट का समय लगता है।
इस तरह से 14 टेबल पर एक राउंड में करीब 10 से 11 हजार मतों की गिनती हो जाएगी। प्रत्येक चरण के प्रत्याशियों के मत ब्लैक बोर्ड पर भी लिखे जाएंगे साथ ही लाउडस्पीकर से इसकी घोषणा भी की जाएगी।
एक चरण में लगते हैं 15 मिनट : सभी 14 टेबल पर मौजूद मतगणना कर्मी हर राउंड में फार्म 17-सी भरकर मतगणना एजेंट से हस्ताक्षर के बाद आरओ को देते हैं। आरओ हर राउंड में मतों की गिनती दर्ज करते हैं। प्रत्येक चरण की गिनती पूरी होने के बाद चुनाव अधिकारी दो मिनट का इंतजार करते हैं ताकि किसी उम्मीदवार को कोई आपत्ति हो तो वो दर्ज करा दें। यानी प्रत्येक चरण की पूरी प्रक्रिया में करीब 15 मिनट का समय लगेगा।
वर्ष 2017 में प्रमुख दलों के नतीजे

पार्टी सीट मत प्रतिशत
भाजपा 312 39.67
सपा 47 21.82
बसपा 19 22.23
अपना दल 09 0.98
कांग्रेस 07 6.25
सुभासपा 04 0.70
निषाद पार्टी 01 0.62
रालोद 01 1.78
——–

वर्ष 2012 में प्रमुख दलों के नतीजे
पार्टी सीट मत प्रतिशत
सपा 224 29.13
बसपा 80 25.91
भाजपा 47 15.00
कांग्रेस 28 11.65
रालोद 09 2.33
अपना दल 01 0.90
——–

वर्ष 2007 में प्रमुख दलों के नतीजे
पार्टी सीट मत प्रतिशत
बसपा 206 30.43
सपा 97 25.43
भाजपा 51 16.97
कांग्रेस 22 8.61
रालोद 10 3.70