पाकिस्तान में गिरी भारतीय मिसाइल पर रक्षा मंत्री का बयान, कहा- इस घटना के लिए हमें खेद है

 

नई दिल्ली। भारत की सुपरसोनिक मिसाइल गलती से पाकिस्तान में गिरने के मामले में आज रक्षामंत्री राजनाथ सिंह संसद में बयान दिया। राज्यसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज मैं 9 मार्च, 2022 को हुई एक घटना के बारे में जानकारी देना चाहता हूं। यह घटना निरीक्षण के दौरान एक मिसाइल के अनजाने में छोड़े जाने से संबंधित है। नियमित रखरखाव और निरीक्षण के दौरान लगभग 7 बजे गलती से एक मिसाइल को छोड़ दिया गया था। बाद में पता चला कि मिसाइल पाकिस्तान के क्षेत्र में गिरी थी। जबकि इस घटना के लिए हमें खेद है, हमें राहत है कि दुर्घटना के कारण किसी को चोट नहीं आई।
सरकार ने इस घटना को गंभीरता से लिया है, औपचारिक उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इस जांच से दुर्घटना के सही कारण का पता चलेगा। मैं यह भी बताना चाहूंगा कि इस घटना के मद्देनजर संचालन, रखरखाव और निरीक्षण के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं की समीक्षा की जा रही है। हम अपने हथियार प्रणालियों की सुरक्षा और सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हैं। यदि कोई कमी पाई जाती है तो उसे तत्काल दूर किया जाएगा।बता दें कि संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण का आज दूसरा दिन है। भारत इस मामले में खेद भी जता चुका है।