शाखा विस्तार में कायम रहे संघ का अनुशासन: भागवत

गोरखपुर। गोरक्ष प्रांत की बैठक के लिए तीन दिन के प्रवास पर गोरखपुर आए राष्ट्रीय सरसंघचालक मोहन भागवत ने बैठकों के क्रम में दूसरे दिन प्रांत के प्रचारकों की बैठक ली। दो सत्र में चली बैठक में संघ प्रमुख ने सभी प्रांत प्रचारकों से कहा कि वह शाखा विस्तार पर विशेष ध्यान दें और इसके लिए स्वयंसेवकों को लोगों से संपर्क के लिए प्रेरित करें। संपर्क अभियान जितना सफल होगा, संगठना का दायरा उतना ही बड़ा होगा। शाखा विस्तार के दौरान संघ के अनुशासन को बनाए रखने पर भी संघ प्रमुख का विशेष जोर रहा। इसके लिए उन्होंने संगठन में प्रवेश से पहले प्रशिक्षण पर बल दिया। उनका मानना था कि प्रशिक्षित स्वयंसेवक ही संगठन के मानक को पूरा करते हुए शाखा विस्तार में अपना योगदान सुनिश्चित कर सकेगा।
शाखा में शामिल होने वाले लोगों के प्रशिक्षण पर दिया जोर
संघ प्रमुख ने समय-समय पर संघ की ओर से सामाजिक सरोकार से जुड़े अभियान को सुचारू रूप से संचालित करने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि सामाजिक सरोकार के लिए कार्य करना संगठन का पवित्र उद्देश्य और लक्ष्य दोनों है। प्रचारकों को इस पर ध्यान देने को कहा कि संगठन को मजबूती देने का कार्य प्रभावित न होने पाए। मोहन भागवत ने प्रचारकों से कहा कि पदाधिकारियों को प्रेरित करें कि वह क्षेत्र में अपना प्रवास बढ़ाएं। ऐसा करके कि वह अधिक से अधिक लोगों को संगठन से जोड़ सकेंगे। शाखाओं में होने वाले कार्यक्रमों की निरंतरता बनाए रखने और संगठन की बैठक के नियमित आयोजन की अपील संघ प्रमुख ने लगातार दूसरे दिन की। बैठक में प्रांत के जिला, विभाग और प्रांत प्रचारकों के अलावा अनुषांगिक संगठनों के करीब 50 प्रचारकों की मौजूदगी रही। संघ के प्रमुख की दो सत्रों हुई बैठक के अलावा भी दो बैठकें हुईं, जिसमें प्रचारकों को क्षेत्र प्रचारक अनिल ने लिया। उन्होंने संगठन की मजबूती के लिए प्रचारकों द्वारा किए जा रहे कार्य की समीक्षा की। इस दौरान प्रांत प्रचारक सुभाष भी मौजूद रहे।
संघ प्रमुख भागवत ने बाबा गोरखनाथ का किया दर्शन-पूजन
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत अपने तीन दिन के गोरखपुर प्रवास के अंतिम दिन मंगलवार की सुबह गोरखनाथ मन्दिर पहुंचे। वहां उन्होंने बाबा गोरखनाथ के दरबार में जाकर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच विधि-विधान से दर्शन-पूजन किया। पूजा मन्दिर के प्रधान पुरोहित रामानुज त्रिपाठी, डा. अरविंद चतुर्वेदी, डा. रोहित मिश्र, डा रंगनाथ त्रिपाठी आदि आचार्यों ने यह पूजा सम्पन्न कराई। इसी क्रम में मोहन भागवत ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधिस्थल पर भी गए और चरण वन्दन कर उनका आशीर्वाद लिया। पूजा-अर्चना के बाद संघ प्रमुख को मन्दिर प्रबंधन के लोग गोरक्षपीठाधीश्वर कक्ष में ले गए और उन्हें मन्दिर का प्रसाद ग्रहण कराया। मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ ने अंगवस्त्र देकर उनका सम्मान किया। संघ प्रमुख करीब आधे घण्टे मन्दिर परिसर में रहे। मन्दिर में उनका स्वागत डा. प्रदीप राव, द्वारिका तिवारी, वीरेंद्र सिंह आदिं प्रबंधन से जुड़े लोगों ने किया।

आज कुटुंब प्रबोधन के बाद वाराणसी जाएंगे मोहन भागवत
गोरखपुर में संघ प्रमुख के तीन दिन के प्रवास का मंगलवार को अंतिम दिन होगा। देर शाम वाराणसी प्रवास पर रवाना होने से पहले संघ प्रमुख मंगलवार की शाम पांच बजे कुटुंब प्रबोधन कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। यह कार्यक्रम योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में आयोजित होगा, जिससे संघ के स्वयंसेवकों के अलावा विचार परिवार के लोग अपने परिवार के साथ संघ प्रमुख का प्रबोधन सुनेंगे। इससे पहले मंगलवार की सुबह संघ प्रमुख द्वारा प्रांत टोलियों की बैठक लिए जाने की संभावना है।