केवल बेंच बदल गई, शपथ के बाद बोले अखिलेश

लखनऊ। सपा सुप्रीमो और करहल सीट से जीतकर विधानसभा पहुंचे अखिलेश यादव ने सोमवार को विधायक के रूप में शपथ ली। पहली बार विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा कि वह इस सदन में पहले भी रह चुके हैं, सिर्फ बेंच बदल गई है। पहले सत्ता पक्ष में थे अब विपक्ष में रहना है। उन्होंने यह भी कहा कि वह सकारात्मक विपक्ष की भूमिका अदा करेंगे। विधानसभा में शपथ के बाद बाहर निकले अखिलेश यादव ने मीडिया कर्मियों से कहा, मैं विधानसभा में रहा हूं। केवल बेंच बदल गई है। मैं पहले पक्ष में बैठता था अब विपक्ष में बैठता था। जब मीडिया ने उनसे भूमिका बदल जाने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि सरकार की जवाबदेही के लिए विपक्ष काम करेगा। जो विपक्ष की भूमिका है, सकारात्मक होगी।
सीएम योगी और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव समेत अनेक नवनिर्वाचित विधायकों ने 18वीं विधानसभा के सदस्य के रूप में शपथ ग्रहण की। सदन के नेता आदित्यनाथ के बाद विपक्ष के नेता के तौर पर नामित अखिलेश यादव ने विधायक के रूप में शपथ ली। आदित्यनाथ ने गोरखपुर शहर सीट से हाल में राज्य विधानसभा चुनाव जीता था जबकि अखिलेश यादव करहल विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। आदित्यनाथ जब सदन में आये तो जय श्री राम और भारत माता की जय के नारों के साथ सदस्यों ने उनका स्वागत किया। योगी अपनी सीट पर बैठने से पहले नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव समेत विपक्षी सदस्यों से मिले और अभिवादन की औपचारिकता पूरी कीं। इसके पहले अखिलेश यादव लाल टोपी पहनकर सदन में आए और समाजवादी पार्टी व सत्ता पक्ष के सदस्यों ने उनका स्वागत किया। योगी ने अध्यक्ष के आसन के पास पहुंचकर शपथ ली, इस दौरान सत्ता पक्ष के सदस्यों के जय श्री राम और भारत माता की जय के नारों से सदन गूंज उठा। इसके बाद जब नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव को शपथ के लिए बुलाया गया तो समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने जय भीम और जय समाजवाद के नारों का उद्घोष किया। यादव अपनी सीट से उठकर पहली कतार से सदस्यों और नेता सदन योगी से मिलने के बाद शपथ के लिए अध्यक्ष के आसन के पास पहुंचे। अखिलेश के बाद वरिष्ठ सदस्य सतीश महाना (कानपुर महराजपुर से निर्वाचित) और उनके बाद उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने शपथ ली। ब्रजेश पाठक के बाद सरकार के मंत्रियों को शपथ दिलाने की प्रक्रिया शुरू हुई। मंत्री सूर्य प्रताप शाही, बेबी रानी मौर्य आदि मंत्रियों ने शपथ ली।