साथी छात्रों ने मिलकर दलित आईआईटी छात्रा का दो बार किया रेप

हैदराबाद। तमिलनाडु पुलिस ने आईआईटी, मद्रास के एक पीएचडी स्कॉलर को करीब एक साल पहले एक साथी छात्रा का यौन उत्पीडऩ करने के आरोप में हिरासत में लिया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। 29 वर्षीय पीडि़ता ने लोगों पर बलात्कार और यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाया है। जांच अधिकारी और चेन्नई पुलिस के विशेष जांच दल के सदस्य सुब्रमण्यम ने बताया कि एक आरोपी को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा, हमने उसे कोलकाता की एक अदालत में पेश किया है और ट्रांजिट रिमांड प्राप्त करने की प्रक्रिया जारी है। हमने अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की है। पीडि़त दलित छात्रा भी पश्चिम बंगाल से ताल्लुक रखती है। महासचिव पी सुगंती ने कहा कि सात आरोपियों में से चार बंगाल के हैं और शेष तमिलनाडु के त्रिची, केरल और आंध्र प्रदेश के हैं। पीडि़ता ने अपने मामले को आगे बढ़ाने के लिए से मदद मांगी है। आरोपियों में से दो कर्मचारी हैं जिनमें एक पीएचडी को-गाइड, एक लैब असिस्टेंट और बाकी पीडि़त के साथी हैं। पीडि़ता ने शिकायत की है कि 2017 से उसका यौन उत्पीडऩ और यौन शोषण किया गया और दो बार बलात्कार किया गया। पीडि़ता ने बताया कि एक बार कैंपस में एक लैब में और दूसरी बार जब वे संस्था द्वारा आयोजित बेंगलुरु के दौरे पर थीं तब उनका रेप किया गया।