जनता का विश्वास कभी भी अविश्वास में नहीं बदलना चाहिए: सीएम योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल में मंगलवार को योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा सदस्यों को संबोधित किया। उत्तर प्रदेश विधानसभा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष सतीश महाना को उनकी कुर्सी पर आसीन कराने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में अपने दूसरे कार्यकाल के पहले संबोधन में विपक्षी दल के नेताओं के भी उत्तर प्रदेश को नया उत्तर प्रदेश बनाने में सहयोग की अपील की।
सीएम योगी ने कहा कि हमें तो जनता के विश्वास पर हर कीमत पर खरा उतरना है। जनता का विश्वास कभी की अविश्वास में नहीं बदलना चाहिए। नकारात्मकता कभी भी जीवन में प्रगति नहीं कर सकती है। हमको तो यही पता है कि सकारात्मकता से ही प्रगति आगे बढ़ती है। जनता तो सदैव ही प्रगतिशील को चुनती है। हमको उत्तर प्रदेश के युवाओं तथा महिलाओं के बारे में अधिक सोचना है। उन्होंने कहा कि हमें अब युवाओं, आधी आबादी, किसानों, मजदूरों और दबे-कुचले लोगों के बारे में सोचना है, उनकी आवाज को आगे बढ़ाना है। हम तो प्रदेश की 25 करोड़ जनता का विकास करेंगे। उन्होंने कहा कि 17वीं विधानसभा में तो हमें सिर्फ तीन वर्ष ही काम करने का अवसर मिला। हमने सकारात्मकता से काम किया और उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ाया। उन्होंने कहा चुनाव के दौरान आरोप, प्रत्यारोप, आक्षेप सभी दलों ने किया, लेकिन हमने देखा कि जनता कभी नकारात्मक पक्ष को स्वीकार नहीं करती, जनता ने हमेशा सकारात्मक पक्ष को ही समर्थन दिया है। नकारात्मकता कभी लोकतंत्र का हित नहीं कर सकता है।
अंत में सीएम योगी ने नवनिर्वाचित विधायकों को बधाई देते हुए कहा कि मैं सभी नव सदस्यों का हृदय से अभिवादन करता हूं। पांच वर्ष के कार्यकाल में आप अगर जनमानस के हित के लिए कार्य करेंगे, तो माननीय अध्यक्ष जी (सतीश महाना) की तरह बार-बार चुनकर आएंगे।