12वीं का इंग्लिश का पेपर लीक, इन 24 जिलों में 2 बजे से होने वाली परीक्षा रद

 

प्रयागराज। यूपी बोर्ड परीक्षा में 12 वीं का अंग्रेजी का पेपर लीक हो गया है। इसके चलते दोपहर दो बजे से होने वाली ये परीक्षा 24 जिलों में रद्द कर दी गई। माध्यमिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला ने बताया कि बाकी 51 जिलों में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बोर्ड परीक्षा कराई जाएगी।
मिली जानकारी के अनुसार पर्चा लीक बलिया में हुआ है। इसके बाद बुधवार को 2 से 5.15 बजे की पाली में प्रस्तावित परीक्षा 24 जिलों में निरस्त कर दी गई। माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पांडेय के अनुसार इंटरमीडिएट अंग्रेजी विषय की सीरीज 316 ईडी व 316 ईआई के प्रश्नपत्र के प्रकटन की आशंका के दृष्टिगत उन 24 जिलों की परीक्षा निरस्त करने का निर्णय लिया गया है, जहां इस सीरीज के पेपर भेजे गए थे। निरस्त परीक्षा की तिथि बाद में घोषित की जाएगी।
इन जिलों में रद्द की गई है परीक्षा
जिन जिलों की परीक्षा निरस्त की गई है उनमें बलिया, एटा, बागपत, बदायूं, सीतापुर, कानपुर देहात, ललितपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, गोंडा, आजमगढ़, आगरा, वाराणसी, मैनपुरी, मथुरा, अलीगढ़, गाजियाबाद, शामली, शाहजहांपुर, उन्नाव, जालौन, महोबा, अम्बेडकरनगर, गोरखपुर शामिल हैं।
पेपर लीक से 24 जिलों में छात्रों के बीच अफरातफरी
12 वीं अंग्रेजी का पर्चा लीक होने के बाद जिन 24 जिलों में दोपहर की पाली की परीक्षा रद्द की गई है वहां छात्रों के बीच अफरातफरी मच गई। परीक्षा रद्द होने के बाद कई छात्रों ने कहा कि वे काफी तैयारी करके परीक्षा देने आए थे। गोरखपुर सहित कुछ स्थानों पर छात्रों ने परीक्षा रद्द किए जाने के खिलाफ नारेबाजी भी की। केंद्रों पर परीक्षा देने आए छात्र-छात्राओं को जब परीक्षा केंद्रों पर एंट्री नहीं दी गई और यह पता चला कि पेपर रद्द हो गया है तो वे निराश हो गए। उन्?होंने कहा कि ऐसे पेपर लीक करने वाले छात्रों के दुश्मन हैं और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।
बलिया से ही कल संस्कृत का पर्चा भी हुआ था लीक
बलिया से ही कल संस्कृत का पर्चा भी लीक हो गया था। हाईस्कूल संस्कृत की परीक्षा शुरू होने से पहले ही उसके पेपर और उत्तर बाजार में पहुंचने की खबर फैल गई थी। पुलिस ने आज इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। जिला विद्यालय निरीक्षक की तहरीर पर केस दर्ज किया गया है। पुलिस कुछ स्कूल प्रबंधकों, शिक्षकों और अन्य संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
मंगलवार को सुबह की पाली में 10वीं के संस्कृत विषय का इम्तिहान था। बताया जा रहा है कि परीक्षा शुरू होने से पहले ही पता चला कि प्रश्नों के उत्तर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे थे। इसकी जानकारी होते ही अफसरों में खलबली मच गई। पहले तो शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने इनकार किया लेकिन बात जब ऊपर तक पहुंच गई तो जांच-पड़ताल शुरू की गई। ज्वाइंट डायरेक्टर वाईके सिंह जांच करने पहुंचे। डीएम ने भी तीन सदस्यीय टीम गठित कर जांच का निर्देश दे दिया। इस प्रकरण में डीआईओएस ब्रजेश मिश्र की तहरीर पर बलिया के उभांव थाने में अज्ञात के खिलाफ धारा 420 आईपीसी, परीक्षा अधिनियम 1988 की धारा 5 व 10 तथा सूचना प्रद्योगिकी (संशोधन) 2008 के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस की आधा दर्जन टीमों को तहकीकात के लिए लगाया गया है।
पूरी रात चली धर-पकड़
पर्चा आऊट होने को लेकर सतर्क प्रशासन के निर्देश पर मामले के संदिग्धों की गिरफ्तारी के लिए मंगलवार की पूरी रात धरपकड़ चलती रही। कई लोगों से पूछताछ की गई। जांच में पता चला कि नगर इलाके में स्थिति एक स्कूल जिसे इस बार सेंटर नहीं बनाया गया है उसके प्रबंधक और शिक्षक ने किसी तरह से पर्चा आउट कर दिया है। हालांकि पुलिस इस मामले पर अभी कुछ भी नहीं बोल रही है।