पेपर आउट होने से इंटर अंग्रेजी की परीक्षा निरस्त, परीक्षा केन्द्रों से वापस हुए परीक्षार्थी

 

गोरखपुर। यूपी बोर्ड की इंटर अंग्रेजी नए व पुराने पाठ्यक्रम के प्रश्नपत्र की परीक्षा बुधवार को निरस्त हो गई। बलिया में परीक्षा से दो घंटे पूर्व पेपर आउट होने से गोरखपुर समेत प्रदेश के 24 जनपदों में परीक्षा निरस्त कर दी गई है। परीक्षा निरस्त होने से परीक्षार्थियों में निराशा है। सूचना मिलने के बाद से केंद्रों से परीक्षार्थी अपने-अपने घरों को वापस लौटने लगे।

एसटीएफ जांच के आदेश
्रअंग्रेजी के जो प्रश्नपत्र आउट हुए हैं उनमें दोनों सेट के प्रश्नपत्र शामिल हैं। घटना के बाद सरकार ने एसटीएफ जांच के आदेश दिए हैं। कहा है कि दोषियों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की जाएगी। जनपद के कई परीक्षा केंद्रों पर सूचना नहीं होने से केंद्रों के बाहर छात्र-छात्राएं लाइनों में खड़े रहे। जैसे ही कंट्रोल रूम व जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय द्वारा केंद्र व्यवस्थापकों को अंग्रेजी के प्रश्नपत्र की परीक्षा निरस्त होने की सूचना दी गई। छात्र-छात्राओं को केंद्रों से लौटाया गया।

बलिया में द्वितीय पाली में होने वाली इंटर अंग्रेजी पुराने व नए पाठ्यक्रमों के प्रश्नपत्र के आउट होने के कारण तत्काल प्रभाव से जिले में भी परीक्षा निरस्त कर दी गई है। जिस सीरीज के प्रश्नपत्र आउट हुए हैं उसी सीरीज से जिले में भी परीक्षा होनी थी। हाईस्कूल सिलाई विषय की परीक्षा यथावत संपन्न होगी। – ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया, जिला विद्यालय निरीक्षक।

परीक्षा की तैयारी मैंने पूरे मन से की थी। परीक्षा निरस्त होने से काफी निराशा हुई है। पता नहीं आगे कब परीक्षा होगी। प्रश्नपत्र कैसा आएगा। – निधि शुक्ला, परीक्षार्थी।
केंद्र पर जब मैं अंग्रेजी प्रश्नपत्र की परीक्षा देने पहुंची तो पता चला की परीक्षा निरस्त हो गई है। अब मैं वापस जा रही हूं। तैयारी अच्छी थी। पता नहीं अब कब परीक्षा होगी। – मुस्कान निसा, परीक्षार्थी
इस बार समय से परीक्षा हो रही थी। परीक्षा समाप्त होने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में हम करते, लेकिन परीक्षा निरस्त होने के कारण अब एकग्राचित्त होकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी नहीं कर सकेंगे। – कविता गौंड़, परीक्षार्थी।
अंग्रेजी में अच्छे अंक इसलिए इस बार हमने अच्छी तैयारी की थी। उम्मीद थी कि तैयारी के अनुरूप प्रश्नपत्र भी आएंगे, लेकिन परीक्षा निरस्त होने से उम्मीदों पर पानी फिर गया है। – श्रुति गुप्ता, परीक्षार्थी