कूड़ा डंपिंग के लिए भूमि चिह्नित करने गई टीम को लोगों ने दौड़ाया

महराजगंज। सदर तहसील क्षेत्र के शिकारपुर-भिटौली के बीच अगया गांव में आज गांव के लोग सडक़ पर उतर गए। ये लोग गांव की गांव की सीमा में महराजगंज नगर पालिका के कूड़ा डंपिंग ग्राउंड का विरोध कर रहे थे। चिह्नित जमीन की पैमाइश करने पहुंची राजस्व व पुलिस टीम के सामने लोग आ खड़े हुए। महिलाएं व बच्चियां सामने आ गईं। पैमाइश के लिए ले जाई गई जरीब को लेकर महिलाएं भागने लगीं तो अफरा-तफरी मच गई। किसी तरह पुलिस कर्मियों ने जरीब वापस ली और फिर भारी विरोध के बीच पैमाइश कराई गई। पैमाइश के बाद जमीन सीमांकन के लिए पत्थर गड़वाए गए। अब इस जमीन पर नगर पालिका अपना कूड़ा डंपिंग का काम शुरू करेगी।
अगया में चिह्नित इस जमीन की पैमाइश कराने इससे पहले भी एक बार टीम गई थी, लेकिन गांव वालों के भारी विरोध पर टीम वापस लौट गई थी। इसी बीच नपा के ईओ ने एसडीएम से जमीन की पैमाइश कराने के लिए पत्र लिखा तो एसडीएम आरबी सिंह ने बुधवार को पैमाइश की तारीख तय की। मयफोर्स राजस्व विभाग व नगरपालिका के लोग मौके पर पहुंचे, लेकिन इसकी भनक लगते ही गांव के लोग भी जुट गए। महिलाएं, बच्चियां टीम के सामने आ गईं। एक बार सडक़ जाम की स्थिति बनने लगी और लोग सडक़ पर जमा हो गए। काफी समझाने का प्रयास हुआ लेकिन बात नहीं बन रही थी। हल्की नोंकझोंक के बीच कुछ महिलाएं पैमाइश के लिए निकाली गई जरीब ही लेकर भागने लगीं जिसे किसी तरह पुलिस कर्मियों ने वापस लिया। इसके बाद अपर एसडीएम/नपा के प्रभारी ईओ अविनाश कुमार व नायब तहसीलदार विवेकानंद दुबे आदि ने लोगों को समझाकर किसी तरह पैमाइश कराई। पैमाइश होने के बाद पत्थर गाड़े जाने तक लोगों की भीड़ अगल-बगल लगी रही।
इस बाबत अपर एडीएम अविनाश कुमार ने कहा कि अगया में यह जमीन कूड़ा डंपिंग ग्राउंड के रूप में अंकित है। इसकी पैमाइश के लिए टीम गई थी। गांव के लोगों ने हल्का विरोध किया, लेकिन समझा-बुझाकर पैमाइश करा ली गई। सीमांकन कर पत्थर भी लगवा दिए गए। सबकुछ सामान्य है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

Sorry, there are no polls available at the moment.

Related Articles

Back to top button
Close
Close