ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में बरते सावधानी नहीं तो खाता हो जाएगा लॉक

देवरिया। ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में अगर खाताधारक ने सावधानी नहीं बरती तो अकाउंट लॉक हो जाएगा। अकाउंट लॉक होने के बाद बैंक जाकर स्पष्टीकरण देने पर ही खाता चालू होगा। एसबीआई ने 1 दर्जन से अधिक ग्राहकों को अधिक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन पर नोटिस जारी किया है। कई खाताधारकों ने दिन भर में 8 से 10 बार ऑनलाइन जमा निकासी किया है। भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा निर्देश का पालम अधिकांश बैंक प्रबंधन ने शुरू कर दिया है। ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में खाताधारकों को महीने भर में जमा निकासी का लिमिट निश्चित किया हुआ है। बावजूद इसके भारतीय स्टेट बैंक रामपुर कारखाना से जुड़े 1 दर्जन से अधिक खाताधारकों ने दिन भर में 8 से 10 बार ऑनलाइन जमा निकासी की है। कई ग्राहकों ने तो ऑनलाइन खरीदारी तो कई ने अपने खाते से रुपए ट्रांसफर कर और फिर अपने खाते में मंगवाया है। इसके चलते कई खाताधारकों के अकाउंट में दिन भर में 8 से 10 बार ऑनलाइन जमा निकासी हुई है। अब बैंक ने ऐसे खाताधारकों की सूची तैयार कर ली है। कर्मचारी खाते में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से फोन कर ग्राहकों को बैंक आकर स्पष्टीकरण देने की बात कह रहे हैं। अगर खाताधारक जवाब देने बैंक नहीं पहुंचता है तो उसका अकाउंट लॉक कर दिया जा रहा है। महज मंगलवार को ही आधा दर्जन खाताधारकों के अकाउंट ब्लॉक कर दिए गए। एसबीआई रामपुर कारखाना शाखा प्रबंधक नीरज कुमार ने कहा कि बैंक के दिशा निर्देश के अनुसार जमा निकासी नहीं करने वाले खाताधारकों को स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है। जवाब नहीं मिलने पर अकाउंट ब्लॉक कर दिया।