पत्नी से छिपाई समलैंगिकता, हनीमून पर गे पार्टनर्स को ले गया था साथ, कोर्ट ने व्यक्ति की अग्रिम जमानत याचिका खारिज की

ठाणे । महाराष्ट्र की एक अदालत ने पत्नी से समलैंगिकता छिपाने के आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तारी से पहले जमानत देने से इनकार कर दिया। आरोप है कि नवी मुंबई के एक 32 वर्षीय व्यक्ति ने अपनी पत्नी को धोखा देते हुए समलैंगिकता की बात छिपाई थी और उसे इम्प्रेस करने के लिए फर्जी जॉब ऑफर भी दिखाया। पत्नी ने आरोप लगाया है कि वह (पति) अपने समलैंगिक साथियों को उनके हनीमून पर भी साथ ले गया था। ठाणे की अतिरिक्त सत्र अदालत के न्यायाधीश आरएस गुप्ता ने आवेदन को खारिज करते हुए कहा प्रथम दृष्टया यह पता चलता है कि आरोपी ने धोखाधड़ी करने के इरादे से, शिकायतकर्ता के माता-पिता को गलत तरीके से वित्तीय नुकसान पहुंचाकर और साथ ही शिकायतकर्ता के जीवन को अपूरणीय क्षति पहुंचाकर धोखाधड़ी की है। आरोपी और शिकायतकर्ता ने ऑनलाइन मुलाकात के बाद पिछले नवंबर में शादी कर ली। प्राथमिकी में, महिला ने आरोप लगाया कि उसे अपने मोबाइल फोन पर व्हाट्सएप संदेशों और वीडियो के माध्यम से उसके सेक्सुअल ओरिएंटेशन के बारे में पता चला। यह पता चला कि वह मुंबई के दो पुरुषों के साथ संबंधों में था। जब पत्नी ने उससे इसके बारे में पूछा तो जब उसने चाकू से हमला किया।