एमएलसी चुनाव काउंटिंग: त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में स्ट्रांग रूम, मतगणना कल

गोरखपुर/देवरिया। जिले में एमएलसी चुनाव के लिए हुए मतदान के बाद मतपेटिका को कलेक्ट्रेट परिसर में उप संचालक चकबंदी देवरिया के न्यायालय कक्ष संख्या आठ (स्ट्रांग) रूम में त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में रखा गया है। इसकी आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था अर्द्धसैनिक बलों, मध्य व बाहरी सुरक्षा व्यवस्था पुलिस संभाल रही है। देवरिया व कुशीनगर दोनों जनपद की मतगणना कलेक्ट्रेट परिसर में 12 मार्च को सुबह आठ बजे से होगी।
कलेक्ट्रेट परिसर में न्यायालय अपर उप जिलाधिकारी देवरिया कक्ष संख्या छह के सामने बरामदे से लेकर मुख्य राजस्व अधिकारी के कार्यकक्ष कक्ष संख्या दस के बरामदे में व आंशिक टेंट हाल नंबर एक में होगी। मतगणना के लिए कुल नौ टेबल लगाए जाएंगे। जिसमें आठ टेबल के लिए व एक टेबल रिटर्निंग आफिसर के लिए लगाई जाएगी। देवरिया के 17 व कुशीनगर के 15 यानी कुल 32 मतदान केंद्रों की मतगणना चार चक्रों में पूरी कर ली जाएगी।
गणना अभिकर्ता के लिए लिए आए आवेदन: मतगणना के लिए नौ गणना अभिकर्ता की नियुक्ति के लिए रिटर्निंग आफिसर के कार्यालय में आवेदन लिए गए। गणना अभिकर्ता और व्यक्तियों को मतगणना प्रक्रिया के दौरान बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। मतगणना हाल में मोबाइल, पेजर, कैमरा वीडियो कैमरा आदि के साथ प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित होगा। मतगणना परिसर में ध्रूमपान निषेध होगा।
विजय जुलूस निकालने पर रहेगी रोक: धारा 144 लागू होने के कारण विजय जुलूस निकालने की अनुमति नहीं होगी। उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी।
अधिकारी बोले: एडीएम प्रशासन के कुंवर पंकज ने बताया कि देवरिया व कुशीनगर दोनों जनपद की मतगणना कलेक्ट्रेट परिसर में होगी। स्ट्रांग रूम त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में है। आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था अर्द्धसैनिक बल के जवान संभाल रहे हैं।
मतगणना कार्मिकों को दिया गया प्रशिक्षण: विकास भवन के गांधी सभागार में एमएलसी चुनाव की मतगणना को लेकर मतगणना कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया। मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने बताया कि मतगणना कार्य बहुत ही संवेदनशील होता है। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। मत पेटिका प्रत्याशी या उनके एजेंट को दिखाकर ही खोले। मत पत्रों को अलग किए जाने के बाद उसे अलग बंडल बनाया जाएगा। किसी तरह की दिक्कत समझ में आए तो तत्काल अधिकारियों को इसकी जानकारी दें। मास्टर ट्रेनर नीशेष कुमार गुप्ता ने भी मतगणना कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया।