ये दारू बंदी बहुत हुई अब रजनीगंधा और तुलसी को बंद कराएं: तेजप्रताप

तेजप्रताप ने सीएम नीतीश को दारू के बाद अब पान मसाला पर दी नसीहत

पटना (बिहार)। लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने एक नई मुहिम शुरू की है और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नसीहत भी दी है। उन्होंने रजनीगंधा और तुलसी बंद कराने की मांग की है। बता दें कि ये दोनों पान मसाला के अंतर्गत आते हैं।
मुंह में रजनीगंधा और कदमों में दुनिया!
तेजप्रताप ने कहा है कि नीतीश चचा जी ये दारु बंदी बहुत हुई.. अब जरा रजनीगंधा तुलसी भी बंद करवाएं… कहीं आप भी तो मुंह में रजनीगंधा और कदमों में दुनिया वाली बात पर यकीन नहीं कर रहे…. मुहिम-बंद करो रजनीगंधा तुलसी।
बता दें कि बिहार में स्वास्थ्य विभाग ने तंबाकू से निर्मित होने वाले सभी प्रकार के गुटखा और पान मसाले के उत्पादन, भंडारण, परिवहन, बिक्री और प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा रखा है। फरवरी 2022 में तंबाकू से बनने वाले पान मसाला और गुटखा पर प्रतिबंध पूरे एक वर्ष के लिए लगाया गया है। लेकिन इसकी बिक्री बाजार में खुलेआम, धड़ल्ले से हो रही है। बता दें कि इसके पूर्व सभी ब्रांड के गुटखा और पान मसाला में मैग्निशियम की मात्रा पाई गई थी। उसके बाद 2019 में ऐसे पान मसाले और गुटखा को प्रतिबंधित किया गया था। सरकार का यह आदेश 30 अगस्त, 2020 तक प्रभावी रहा। प्रतिबंध को आगे नहीं बढ़ाया गया था। इसके बाद फरवरी 22 में इसे एक साल के लिए लागू किया गया।
मुंह के कैंसर का कारण बनता है
तेजप्रताप यादव ने सोशल मीडिया के जरिए नीतीश कुमार से तुलसी और रजनीगंधा की मांग करते हुए मुख्यमंत्री पर व्यंग्य पर किया है। भारत सरकार का स्वास्थ्य मंत्रालय मानता है कि पान मसाला से बीमारी फैलती है। शोध में भी यह सामने आ चुका है कि मुंह का कैंसर ज्यादातर उन लोगों में होता है जो इसका सेवन नियमित रुप से करते हैं।