बहू के खिलाफ केस दर्ज, पांचवें दिन हुआ दाह संस्कार

देवरिया। मौत के पांचवें दिन व्यक्ति का दाह संस्कार हुआ। विवेचना में बहू का नाम बढ़ाने और गिरफ्तारी के बाद परिजन दाह संस्कार को राजी हुए थे। एएसपी और सीओ सदर की मौजूदगी में दाह संस्कार किया गया। मामले में महुआडीह पुलिस की जमकर किरकिरी हो रही है। महुआडीह थाना क्षेत्र के देवरिया नकछेद गांव में गुरुवार की शाम सास बहू के झगड़े में ससुर रामेश्वर प्रसाद की मौत हो गई थी। बहू पर मायके वालों को बुलाकर पिटाई का आरोप लगाते हुए सास ने तहरीर दी। आरोप है कि महुआडीह पुलिस ने कई बार तहरीर में हेराफेरी कराकर बहू सुमन भारती के भाइयों पर मुकदमा दर्ज किया। पोस्टमार्टम के बाद शुक्रवार को शव घर आया। लेकिन एफआईआर की कॉपी में बहू का नाम नहीं देखकर परिजन आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों के साथ परिजनों ने दाह संस्कार करने से इंकार कर दिया। शनिवार और रविवार को पुलिसकर्मियों ने कई बार जबरन दाह संस्कार का कोशिश किया। लेकिन ग्रामीणों के तीखे विरोध और जोरदार नारेबाजी के बीच उन्हें बैकफुट पर आना पड़ा। रविवार की रात एएसपी और सीओ सदर की मौजूदगी में परिजन बहू की गिरफ्तारी और मुकदमा दर्ज करने की मांग मानने पर दाह संस्कार को राजी हुए थे।