कर्ज और गरीबी से तंग सगी बहनों ने की आत्महत्या, मालगाड़ी के आगे लगाई छलांग

 

 

औरैया। उत्तर प्रदेश में औरैया जिले के दिबियापुर क्षेत्र में कर्ज और गरीबी से तंग आकर दो नाबालिग सगी बहनों ने आज आत्महत्या कर ली। दोनों बहनों ने दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग पर मालगाड़ी के आगे छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस सूत्रों ने बताया कि कंचौसी रेलवे स्टेशन के पास ग्राम पंचायत ढीकियापुर के जोगी डेरा निवासी अशोक नाथ की बीमारी से मौत हो गई थी। पिता की मौत के बाद घर चलाने की जिम्मेदारी बड़ी बेटी सपना (17) और पूनम (16) के कंधों पर आ गई। इस बीच मां नीलम देवी भी बीमार रहने लगी। दोनों बहनें किसी तरह गुजर बसर कर मां का इलाज और भाई बहनों का पेट भर रही थी। कर्ज लेकर एक बीघा जमीन में गेहूं की फसल बोई, लेकिन फसल भी ठीक से नहीं हुई। कर्ज चुकाने की चिंता में सपना और पूनम घर से निकल कर कंचौसी रेलवे स्टेशन पहुंची और मालगाड़ी आते देख एक दूसरे का हाथ पकड़ कर छलांग लगा दी। इससे कटकर दोनों की मौत हो गई। मृतका के चचेरे भाई संजीव नाथ ने बताया कि आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, इसी से परेशान होकर दोनों ने आत्महत्या की है।