पेपर लीक कांड : डायरेक्टर माध्यमिक शिक्षा विनय सस्पेंड

पद से पहले ही हटा दिये गये थे

लखनऊ। पेपर लीक मामले में उप्र सरकार ने एक और बड़ी कार्रवाई की है। पांच दिन पहले ही निदेशक माध्यमिक शिक्षा के पद से हटाए गए विनय कुमार पांडेय को आज सस्पेंड कर दिया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के सरकारी महकमे में एक और बड़ी कार्रवाई की गई है। निदेशक माध्मिक शिक्षा विनय पांडेय को सस्पेंड करते हुए जांच और आगे बढ़ाई जा रही है। अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधना शुक्ला ने बताया कि पदीय दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही पर मुख्यमंत्री के निर्देश पर तत्कालीन शिक्षा निदेशक (माध्यमिक) विनय कुमार पांडेय को निलंबित कर दिया गया है।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय पांडेय को बीते 21 अप्रैल को उनके पद से हटाकर साक्षरता वैकल्पिक शिक्षा उर्दू प्राच्य भाषाएं के निदेशक के पद पर भेजा गया था। उनके स्थान पर माध्यमिक शिक्षा निदेशक के पद का कार्यभार अपर परियोजना निदेशक सरिता तिवारी को सौंपा गया था। अपर परियोजना निदेशक, राज्य परियोजना कार्यालय लखनऊ को अग्रिम आदेशों तक शिक्षा निदेशक माध्यमिक का कार्यभार अस्थायी रूप से दिया गया है। यूपी बोर्ड परीक्षा का बलिया में पेपर लीक होने के बाद ही विनय पांडेय पर तलवार लटक रही थी।