अपनी ही नहीं, पत्नी, बेटे, बेटी, बहू की भी संपत्ति बताएं मंत्री

  • अफसरों को भी देना होगा संपत्ति का ब्यौरा
  • मंत्री देखेंगे मंडल में सरकार की योजनाओं की प्रगति
  • सीएम योगी का फरमान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई है। अब प्रदेश के सभी मंत्रियों के साथ आईएएस और पीसीएस अफसरों से उनके संपत्ति का ब्यौरा मांगा गया है। मंत्री और अफसर सिर्फ अपनी ही नहीं बल्कि अपने पूरे परिवार के सदस्यों की चल अचल संपत्ति का ब्यौरा जनता के सामने रखेंगे। मंगलवार को भी कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा स्वस्थ लोकतंत्र के लिए जनप्रतिनिधियों के आचरण की सूचना अति आवश्यक है। इसी भावना के अनुरूप सभी माननीय मंत्री अगले 3 माह की अवधि के भीतर अपने व अपने परिवार के सदस्यों की समस्त चल-अचल संपत्ति की सार्वजनिक घोषणा करें। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा सभी लोकसेवक आईएएस, पीसीएस को अपनी व परिवार के सदस्यों की समस्त चल-अचल संपत्ति की सार्वजनिक घोषणा करें। यह विवरण आम जनता के अवलोकनार्थ ऑनलाइन पोर्टल पर उपलब्ध कराया जाए। साथ ही मंत्री के परिवार सदस्य किसी भी सरकारी काम में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी मंत्रियों को सोमवार व मंगलवार को अनिवार्य रूप से राजधानी में रहना होगा। शुक्रवार से रविवार तक अपने निर्वाचन क्षेत्र व प्रभार के जिलों में जनता के बीच रहना होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश पर अ_ारह मंत्री समूह गठित किए हैं। जिसमें तीन-तीन मंत्री शामिल हैं। इन मंत्री समूहों को एक-एक मंडल की जिम्मेदारी दी गई है। जहां वह शुक्रवार से रविवार तक दौरा करेंगे और सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं की ग्राउंड रियलिटी को जानेंगे।

इन मंत्रियों के जिम्मे हैं ये मंडल:
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को आगरा मंडल, उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक को वाराणसी मंडल, सूर्य प्रताप शाही को मेरठ मंडल, सुरेश खन्ना को लखनऊ मंडल, स्वतंत्र देव सिंह को मुरादाबाद मंडल, बेबी रानी मौर्य को झांसी मंडल, चौधरी लक्ष्मी नारायण को अलीगढ़ मंडल, जयवीर सिंह को चित्रकूट धाम मंडल, धर्मपाल सिंह को गोरखपुर मंडल, नंद गोपाल गुप्ता नंदी को बरेली मंडल, भूपेंद्र सिंह को मिर्जापुर मंडल, अनिल राजभर को प्रयागराज मंडल, जितिन प्रसाद को कानपुर मंडल, राकेश सचान को देवीपाटन मंडल, अरविंद शर्मा को अयोध्या मंडल, योगेंद्र उपाध्याय को सहारनपुर मंडल, आशीष पटेल को बस्ती मंडल व संजय निषाद को आजमगढ़ मंडल की योजनाओं को चेक करना है।