मास्क लगाएं और हाथों की स्वच्छता पर दें ध्यान: डॉ नंद कुमार

27 कोरोना योद्धाओं को किया गया सम्मानित

गोरखपुर|पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक बार फिर कोविड के सक्रिय मामलों को देखते हुए कार्यवाहक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नंद कुमार ने जनपदवासियों को सतर्क किया है । झरना टोला शहरी स्वास्थ्य केंद्र (यूपीएचसी) के तत्वावधान में एक निजी होटल में हुए आयोजन में उन्होंने लोगों से अपील की कि घर से बाहर निकलें तो मास्क अवश्य लगाएं। समय-समय पर हाथों को साबुन पानी या सेनेटाइजर से साफ करते रहें । इस मौके पर कार्यवाहक सीएमओ ने यूपीएचसी से जुड़कर कोविड में कार्य कर चुके 27 कोरोना योद्धाओं को सम्मानित भी किया । उन्होंने चिकित्सकों को डायस पर बैठा कर उनके योगदान पर प्रकाश भी डाला।

इस अवसर पर पूनम तिवारी और सोनम वर्मा ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डाक्टर शालिनी श्रीवास्तव ने कोविड काल में स्वास्थ्य सेवा संबंधित योगदान पर प्रस्तुति दी। चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों ने कोविड काल के अपने अनुभव साझा किये।

कार्यवाहक सीएमओ ने बताया कि जिले में कोविड नियंत्रण में है लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कोविड के मामले बढ़ रहे हैं । विदेशों में भी सक्रिय मामलों की संख्या बढ़ी है । ऐसे में जनपदवासियों को सतर्क रहना होगा । प्रायः देखा जा रहा है कि लोग बिना मास्क के ही बाहर निकल रहे हैं जो कि संक्रमण की दृष्टि से खतरनाक है । मास्क न केवल कोविड से बचाता है बल्कि इस लू के मौसम में धूल, वायरल बीमारियों, टीबी समेत कई अन्य संक्रामक बीमारियों से सुरक्षित करता है । इसी प्रकार हाथों की स्वच्छता का व्यवहार कोविड के साथ-साथ टीबी, वायरल बीमारियों, पेट से जुड़ी बीमारियों, एनीमिया आदि से रक्षा करता है । हाथों की स्वच्छता सुमन-के फार्मूले के साथ होनी चाहिए। इसका मतलब है कि पहले सामने से, फिर उल्टा, फिर मुट्ठी, फिर अंगुलियों और नाखून व कलाई की 40 से 60 सेकेंड तक सफाई करनी चाहिए । खांसते-छींकते समय रूमाल या टिश्यू पेपर अथवा कुंहनियों का इस्तेमाल करना है ।

डॉ नंद कुमार ने यह भी अपील की कि 12 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोग कोविड टीके की सभी आवश्यक डोज अवश्य लगवाएं। यह देखा गया है कि कोविड का टीका लगवा चुके लोगों को अगर कोविड होता भी है तो जटिलताएं नहीं बढ़ती हैं । 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को तो बूस्टर डोज भी अवश्य लगवानी है ।

इस मौके पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एके चौधरी ने कहा कि कोरोना योद्धाओं ने कोविड को रोकने में अहम भूमिका निभाई है । योद्धाओं के श्रम और समर्पण को सच्चा सम्मान तभी मिलेगा जब सामुदायिक भागीदारी से जिले में कोविड को नियंत्रण में रखा जाए । सभी लोग कोविड नियमों का फिर से सख्ती से पालन शुरू कर दें ।

यह लोग हुए सम्मानित

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ शालिनी श्रीवास्तव ने बताया कि केंद्र की सपोर्टिंग स्टॉफ प्रभावती, विनय कुमार, एएनएम सोनम, पूनम, पल्लवी, सीमा, विभा, पुष्पा, अर्चना, एचवी सत्यवती, फूलकुमारी, फार्मासिस्ट सुशील कुमार सिंह, सीसीपीएम सुनील कुमार यादव, एआरओ सुनील कुमार सिंह, स्टॉफ नर्स सुजीत, अनुपमा, प्रियंका, आरआरटी टीम से डॉ केजे लक्ष्मी, डॉ शहनवाज अंसारी, डॉ एसके सिंह, डॉ प्रतिभा त्रिपाठी, खोराबार की एलएमओ डॉ पारूल उपाध्याय, आरआरटी सदस्य अरूण यादव, संगीता देवी, शिवबीर पांडेय और सीएचओ बेलघाट पल्लवी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया ।

इस अवसर पर शहरी स्वास्थ्य मिशन के समन्वयक सुरेश सिंह चौहान, क्वालिटी सहायक विजय श्रीवास्तव, पीएसआई इंडिया-टीसीआईएचसी संस्था से केवल सिंह सिसौदिया, प्रियंका सिंह और रेखा प्रमुख तौर पर मौजूद रहे।