बांसवाड़ा में नाबालिग बेटी का अपहरण

बांसवाड़ा। राजस्थान में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि राह जाते रोक कर किसी का भी अपहरण कर ले जाएं। बांसवाड़ा जिले में बोलेरो में आए बदमाश सरेआम एक नाबालिग लडक़ी का अपहरण कर ले गए। इन बदमाशों का अंदाज भी फिल्मी था। पिता की बाइक के सामने बोलेरो गाड़ी खड़ी की और पिता पर तब तक लात घूसे बरसाते रहे, जब तक उसने अपनी बेटी का हाथ नहीं छोड़ दिया। इस बीच बचाने आई मां के साथ भी मारपीट की। मामला बांसवाड़ा जिले के अंबापुरा थाना क्षेत्र का है। इस मामले की जांच कर रहे एएसआई रमेशचंद्र डामोर ने बताया कि बोरखाबर निवासी नरेश मईड़ा ने थाने लिखित में दी रिपोर्ट में बताया कि बुधवार शाम करीब पांच बजे वो अपनी पत्नी हुकी और नाबालिग बेटी को बाइक पर लेकर सामरिया गांव जा रहा था। रास्ते में घाट सेक्शन से बोरखाबर के पास एक बोलेरो जीप पीछे से आई और बाइक के सामने आकर रुकी। इसमें से बिजलपुर थाना पाटन निवासी भीमा, विकास और सुनील डिंडोर नीचे उतरे। इन बदमाशों ने मुझे (पिता नरेश) को पकड़ लिया और बेटी को खींचने लगे। मैंने जैसे-तैसे बेटी का हाथ पकड़ा। इस पर बदमाश मारपीट पर उतारू हो गए और वे तब तक मारते रहे जब तक कि मैंने उसका हाथ नहीं छोड़ दिया। इसके बाद बदमाश बेटी को लेकर सामरिया की ओर भाग निकले और मोबाइल भी छीनकर ले गए।