अलविदा की नमाज अदाकर रोजेदारों ने मांगी सलामती की दुआ

  • घोषी महासभा के प्रदेश अध्यक्ष फारुक अशरफ व पूर्व पार्षद अशरफ अली ने जरूरतमंदों में वितरित किये वस्त्र
  • सुरक्षा को लेकर तैनात रही पुलिस

गोरखपुर। रमजान के अंतिम जुमे की (अलविदा की) नमाज शुक्रवार को अकीदत के साथ अदा की गई। इस मौके पर रोजेदारों ने मुल्क की सलामती की दुआ की। गोरखपुर से लगायत, देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज सहित पूरे प्रदेश व देश में मस्जिदों व इदगाहों में अलविदा की नमाज अदा की गई। जामा मस्जिद में सर्वाधिक भीड़ रही। सुरक्षा को लेकर जगह-जगह पुलिस तैनात थी।

 

घोसी महासभा यूथ विंग के प्रदेश अध्यक्ष एवं गोरखपुर कांग्रेस कमेटी के जिला सचिव नवाब फारूक अशरफ व उनके पिता पूर्व पार्षद जनाब अशरफ अली साहब ने हर साल की तरह इस बार भी परंपरा निभाई। अलविदा के नमाज के बाद पिता-पुत्र ने जरूरतमंदों में वस्त्र वितरित किया, साथ ही कई परिवारों की आर्थिक मदद भी की। इससे पहले नवाब परिवार ने रहमत और बरकत के इस पाक महीने रमजान में गरीबों एवं मजलूमों के लिए फलाहार और सेहरी तथा रोजा – इफ्तार का अपने आम बाजार, मेडिकल कॉलेज रोड़, राजस्थान मार्बल्स स्थित आवास पर बंदोबस्त किया था। हर साल की तरह इस साल भी रोजेदारों के लिए अनाज के साथ ही साथ इफ्तारी का सामान मुहैया कराया। बता दें कि फारूक अशरफ हर वक्त लोगों की मदद और गरीब लड़कियों की शादी में भरपूर सहयोग और मदद के लिए तैयार रहते हैं।