गोविवि: पुरातन छात्र सम्मेलन कल से, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह होंगे मुख्य अतिथि

गोरखपुर। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय (डीडीयू) में 30 अप्रैल से 2 मई तक आयोजित पुरातन छात्र सम्मेलन की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केन्द्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह होंगे। इस आयोजन में इसमें देशभर के दिग्गज जुटेंगे जो कभी विश्वविद्यालय के विद्यार्थी थे और आज महत्वपूर्ण पदों पर आसीन हैं। गोविवि प्रशासन ने ऐसे लोगों की सूची बनाई है। उन्हें डिस्टिंग्विश एल्युमिनाई सम्मान से नवाजा जाएगा।
कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने प्रेसवार्ता में आयोजन से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस राहुल चतुर्वेदी, जस्टिस सलिल कुमार राय, जस्टिस उमेश चन्द्र शर्मा, राज्यसभा सांसद शिव प्रताप शुक्ल, केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी, सांसद जगदंबिका पाल, महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री कृपा शंकर सिंह, कीर्ति चक्र विजेता एनएनडी दूबे, पद्मश्री डॉ. ज्ञानचंद मिश्र समेत करीब दर्जन भर विश्वविद्यालयों के कुलपति समेत कुल 32 पुरातन छात्रों को डिस्टिंगविश एल्युमिनाई सम्मान से सम्मानित किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि इस आयोजन के माध्यम से पूरी दुनिया में फैले अपने पुरातन छात्रों को जोडऩे की पहल की गई है। करीब 15 हजार पुरातन छात्रों का डाटाबेस तैयार किया गया है। एक हजार एल्युमनाई फिजीकली उपस्थित रहेंगे। 20-22 हजार एल्युमनाई ऑनलाइन जुड़ेंगे। पंजीकरण प्रक्रिया जारी है। कोई भी पुरा छात्र पंजीकरण कराकर इसमें शामिल हो सकता है।
विवि प्रशासन ने दो विशिष्ट स्वर्ण पदक देने की योजना बनाई है। पहला स्वर्ण पदक रक्षामंत्री व पुरातन छात्र राजनाथ सिंह के नाम पर दिया जाएगा। यह स्वर्ण पदक विज्ञान संकाय के टॉपर को मिलेगा। दूसरा स्वर्ण पदक भौतिक विज्ञान विभाग के संस्थापक अध्यक्ष और पूर्व कुलपति प्रो. देवेंद्र शर्मा के नाम पर होगा। यह पदक भौतिकी विज्ञान के टॉपर को दिया जाएगा।
तीन दिन तक चलने वाले कार्यक्रम के पहले दिन 30 अप्रैल को एजुकेशन इंडस्ट्री इंटरफेस शाम चार बजे से प्रशासनिक भवन कमेटी हॉल में होगा। संवाद भवन में चार बजे से कॉमर्स संकाय का सम्मेलन और पांच बजे से शिक्षा संकाय का सम्मेलन होगा। 1 मई को 10.30 बजे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इसका शुभारंभ दीक्षा भवन में करेंगे। कुलपति ने बताया कि रक्षा मंत्री विश्वविद्यालय में करीब डेढ़ घंटे रहेंगे। उस दिन अपराह्न तीन बजे से कला संकाय, विज्ञान संकाय, चिकित्सा संकाय, विधि संकाय का सम्मेलन होगा। शाम पांच बजे कन्वेंशन सेंटर में चाय पर चर्चा होगा। शाम 6.30 बजे से दीक्षा भवन में सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। 2 मई को विभागवार पुरातन छात्र सम्मेलन सुबह नौ बजे से 11 बजे तक संबंधित विभागों में होगी।