थाने पर चलेगा बुलडोजर- अखिलेश ने ललितपुर कांड पर योगी सरकार से किया सवाल

लखनऊ/ललितपुर। ललितपुर के पाली में गैंगरेप पीडि़ता से थाने में रेप की घटना पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सरकार को घेरा है। पीडि़ता की मां से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि थाने अराजकता के सेंटर बन गए हैं। भाजपा सरकार बनने के बाद महिलाओं पर अत्याचार बढ़ा है। उनकी पार्टी पाली की बेटी को न्याय दिलाने के लिए हर तरह की मदद को तैयार है। उन्होंने योगी सरकार से सवाल किया है कि क्या थाने पर भी बुलडोजर चलेगा? वह सबसे पहले जिला चिकित्सालय गए जहां उन्होंने किशोरी की मां से मुलाकात करके घटनाक्रम की जानकारी ली। उनको हर तरह की मदद का भरोसा दिलाया। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में चंदौली व ललितपुर की घटनाओं के लिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि थानों में गरीबों की सुनवायी नहीं हो रही। शिकायत के बावजूद जिम्मेदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं होती। विभागीय लापरवाहों को बर्खास्त करने के बजाए लाइन हाजिर किया जा रहा है। पुलिस को पता था कि आरोपित इंस्पेक्टर कहां है। इसीलिए उसको गिरफ्तार कर लिया। घटनाओं को अंजाम देने के बाद पुलिस कहानी बदल रही है।
सपा अध्यक्ष ने सवाल उठाया कि अब पुलिस स्टेशन पर बुलडोजर चलेगा कि नहीं। सरकार जानबूझकर महंगाई पर बात करना नहीं चाहती। स्टील, सीमेंट सब महंगा हो गया। गरीब मकान नहीं बना पा रहे हैं। बेरोजगारी से ध्यान भटकाने के लिए लाउडस्पीकर हटाए जा रहे हैं। भाजपा को भारत का सेकुलर तानाबाना नहीं मालूम। जिसकी वजह से माहौल बिगड़ता जा रहा है। विधानसभा चुनाव में हार के कारणों के सवाल को वह टाल गए। बलिया व कानपुर का उदाहरण देकर पत्रकारों के साथ सरकार के रवैये पर भी सवाल उठाया।