रेलवे कर्मी के बेटे का मिला शव, हत्या की आशंका

गोरखपुर। शाहपुर बिछिया बीजी कॉलोनी में आरपीएफ ट्रेनिंग स्कूल के पीछे शुक्रवार की सुबह रेलवे के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राजेंद्र प्रसाद के 19 वर्षीय बेटे शिवा चौबे उर्फ चिपैंजी का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सिर में चोट के निशान देख हत्या की आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस युवक के दो दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि युवक बीती रात घर पर यह बोल कर निकला था कि वह पंजाब जा रहा है।
राजेंद्र प्रसाद चौबे गोरखपुर रेलवे में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। वह अपनी पत्नी, दो बेटों व दो बेटियों के साथ रेलवे के बिछिया बीजी कॉलोनी के मकान नंबर 626 जी में रहते हैं। परिजनों के अनुसार उनका छोटा बेटा शिवा बीती रात घर से निकला था। उसने कहा था कि वह कमाने के लिए पंजाब जा रहा है। घर से कुछ पैसे व बैग भी लिया था। सुबह उसके दोस्तों ने उसके मौत की सूचना दी और बताया कि शव आरपीएफ ट्रेनिंग स्कूल के पीछे फर्श पर पड़ा है।
दरअसल युवक घर से निकलने के बाद पास के ही एक रेलवे के फ्लैट की छत पर पार्टी की थी। जिसमें उसके दो दोस्त सद्दाम व प्रमोद भी शामिल हुए थे। दोस्तों का कहना है कि शराब पीने के बाद वह छत से गिर गया। पुलिस को दोस्तों के छत से गिरने वाली बात पर विश्वास नही हो रहा है। दोस्तों ने रात में न तो घरवालों को ही और न ही पुलिस को ही युवक के छत से गिरने की सूचना दी थी। चर्चा है कि दोनों दोस्त ही उसे अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों के मृत घोषित करने के बाद शव को फ्लैट के पीछे लाकर रख दिया। सुबह में दोस्तों ने पुलिस व घरवालों को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने दोनों दोस्तों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। वहीं घर वाले हत्या की आशंका जता रहे हैं। उनका कहना है कि शराब के नशे में मारपीट हुई है जिसके बाद दोनों ने उसकी हत्या कर दी है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। परिजनों का कहना है कि जिस छत से गिरने की बात कही जा रही है उसपर 3 से 4 फीट की बाउंड्री है और फिर बालकनी है और तब जाकर नीचे का फर्श है। युवक दो भाइयों में दूसरे नंबर का था। उसका बैग व शराब की बोतले पुलिस को छत पर मिली हैं जहां पार्टी हुई थी।
इंस्पेक्टर शाहपुर रणधीर मिश्रा ने बताया कि युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। दो युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की वजह स्पष्ट होगी। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।