दो आदिवासी युवकों की हत्या के विरोध में सिवनी बंद का असर, भारी संख्या में फोर्स तैनात

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में दो युवाओं की हत्या के विरोध में सोमवार को सिवनी बंद का मिला जुला असर रहा। मूल निवासी आदिवासी संघर्ष समिति द्वारा अपनी विभिन्न मांगों के साथ ही ग्राम सिमरिया में बीते 2 व 3 मई की रात दो जनजाति युवाओं की हत्या को लेकर सिवनी बंद का ऐलान किया गया था। जिला मुख्यालय में बंद का मिला जुला असर रहा। बंद को लेकर प्रशासन अलर्ट है तथा सिवनी पहुंचने वाले सभी मार्गो पर पुलिस बल तैनात कर दिया है। भारी वाहनों का सिवनी शहर की सीमा में प्रवेश बंद रखा गया है। इस आंदोलन में आने वाले लागों को चेक पोस्ट लगाकर रोक दिया गया है। सिवनी शहर में प्रवेश ना मिलने पर आंदोलन में आ रहे लोग चेकपोस्ट पर ही बैठ गए है। आपको बता दें कि सिवनी जिले के सिमरिया गांव में बीते मंगलवार यानी तीन मई को 15-20 लोगों की भीड़ ने संपत लाल वट्टी और धानसाय इनवाती नाम के दो आदिवासियों को पीट- पीट कर मार डाला था। बृजेश नाम के एक और आदिवासी को भी पीटा गया था।