भाजपा के पूर्व विधायक संगीत का विवादित बयान, कहा-92 में बाबरी, 22 में ज्ञानवापी की बारी

मेरठ। भाजपा के पूर्व विधायक संगीत सोम के एक और विवादित बयान सामने आया है। इस बयान में संगीत सोम ने ज्ञानवापी मस्जिद पर बात की। उन्होंने कहा कि औरंगज़ेब जैसे लोगों ने ज्ञानवापी मस्जिद बनवाई थी। 92 में बाबरी और 22 में ज्ञानवापी की बारी है। आक्रांताओं ने मंदिर को तोडक़र जो मस्जिद खड़ा किया था उसे वापस लेने का समय आ गया है। संगीत सोम ने यह बयान अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट भी किया है। बताया जा रहा है कि इसके पहले संगीत सोम ने मेरठ के ज्वालागढ़ चौराहे पर आयोजित महाराणा प्रताप के जयंती समारोह ऐसा ही बयान दिया था। उनके बयान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। हालांकि वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं किया जा सकता है। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि संगीत सोम ने कहा कि बनारत में भगवान काशीनाथ का मंदिर बनाया जाएगा। अब काशीनाथ मंदिर को उसी रूप में लेकर आया जाएगा। भगवान भोलेनाथ का परिवार बसाकर संपूर्ण मंदिर बनाया जाएगा। बाद में इस कार्यक्रम की तस्वीरें फेसबुक पर पोस्ट करते हुए संगीत सोम ने लिखा-आज वीर शिरोमणि, मां भारती के वीर पुत्र, पूज्य महाराणा प्रताप जी की जन्मजयंती के शुभ अवसर पर ज्वालागढ़ चौराहे पर स्थित प्रतिमा का माल्यार्पण किया। हजारों की संख्या में आये युवा साथियों का अभिवादन किया और जयंती पर महाराणा प्रताप जी का स्मरण कर युवासाथियों को संबोधित किया।