पूजा सिंघल के पति अभिषेक का एक और फर्जीवाड़ा… जालसाजी कर खरीदी पल्स अस्पताल की जमीन

रांची। उपायुक्त छवि रंजन ने अपर समाहर्ता से पल्स अस्पताल से संबंधित पूर्व में हुई जांच संबंधी फाइल मांगी है। 48 घंटे के अंदर अपर समाहर्ता को पल्स हास्पिटल की भूमि से संबंधित जांच प्रतिवेदन देना है। आरोप है इस अस्पताल का निर्माण भुईंहरी जमीन पर हुआ है, जबकि भुईंहरी जमीन की खरीद-बिक्री नहीं हो सकती है। इसके बाद भी जालसाजी करके जमीन की खरीदी गई और पल्स अस्पताल का निर्माण किया गया। मामला प्रकाश में आने के बाद सीएम हेमंत सोरेन के निर्देश पर इस मामले की जांच की गई थी, लेकिन बाद में लीपापोती कर दी गई। इस मामले को लेकर एक बार फिर जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाई और संबंधित जमीन की फाइल मांगी है, ताकि पल्स अस्पताल को लेकर कोई उचित कार्रवाई की जा सके।
सीओ और एसी ने की थी जमीन की जांच
अंचल अधिकारी बडग़ाईं और तत्कालीन अपर समाहर्ता रांची ने संयुक्त रूप से पल्स अस्पताल की जमीन की जांच की थी। जांच प्रतिवेदन संभवत: राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग झारखंड, मुख्यमंत्री सचिवालय को उपलब्ध कराई गई है। पत्र में कहा गया है कि राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग झारखंड सरकार, मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा पल्स अस्पताल की भूमि के संबंध में जांच करने का निर्देश दिया गया था। डीसी के इस निर्देश के बाद जिला प्रशासन के अधिकारी सक्रिय हो गए हैं।